Gautam Gambhir: India will tour South Africa with a lot of confidence
गौतम गंभीर ने बंगाल के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में शतक लगाया था © Getty Images (File Photo)

रणजी ट्रॉफी 2017-18 में लगातार रन बरसा रहे सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर  को भले ही दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए भारतीय टेस्ट टीम में जगह ना मिली हो लेकिन उनका मानना है कि टीम इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करेगी। गंभीर ने एएनआई से बातचीत में कहा, मेरा मानना है कि टीम इंडिया पूरे आत्मविश्वास के साथ दक्षिण अफ्रीका का दौरा करेगी क्योंकि पिछले दो सालों में टीम ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। हालांकि ये जरूरी है कि टीम जल्द वहां के हालात में खुद को ढाल ले और मानसिक तौर पर मजबूत रहे।”

दिल्ली बनाम बंगाल सेमीफाइनल मैच में धमाकेदार शतक लगाने वाले गंभीर ने ये भी कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज टीम इंडिया के लिए बड़ी चुनौती होगी। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि ये बड़ी चुनौती होगी क्योंकि दक्षिण अफ्रीका बड़ी टीम है। उनके पास अच्छा गेंदबाजी अटैक है, इसलिए मेरा मानना है कि ये बड़ी चुनौती होगी। मुझे यकीन है कि खिलाड़ी इसके लिए तैयार होंगे क्योंकि आप खुद को सर्वश्रेष्ठ टीम के सामने चुनौती देना चाहते हैं।”

रणजी ट्रॉफी फाइनल जीतना हमारा लक्ष्य

यो-यो टेस्ट में पास हुए सुरेश रैना
यो-यो टेस्ट में पास हुए सुरेश रैना

गंभीर की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत फाइनल में पहुंची दिल्ली टीम की सामना 29 दिसंबर को इंदौर के होल्कर स्टेडयम में विदर्भ टीम से होगा। गंभीर ने इस बारे में बात करते हुए कहा, “ये सच है कि इतने सालों तक प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलने के बाद जब भी आप नया सीजन शुरू करते हैं तो फाइनल में पहुंचने की उम्मीद रखते हैं। इससे आपको ज्यादा मैच खेलने का मौका मिलता है और अगर आप फाइनल जीत जाते हैं तो आपको ईरानी ट्रॉफी जैसे और मैच खेलने का मौका मिलता है। पहला लक्ष्य फाइनल में पहुंचना होता है और फिर आप फाइनल जीतने पर ध्यान लगाते हैं। हमारी टीम में ऐसे बहुत से युवा खिलाड़ी हैं जो इसके लिए तैयार हैं। ऐसा इसलिए हैं क्योंकि बहुत कम खिलाड़ियों को रणजी ट्रॉफी फाइनल खेलने का मौका मिलता है।”

भारतीय टीम में चयन के बारे में नहीं सोचते गंभीर

36 साल के इस क्रिकेटर ने टीम इंडिया में वापसी को लेकर कहा, “जब आप क्रिकेट खेलते हैं तो पहला लक्ष्य रन बनाना होता है क्योंकि आपके पुराने प्रदर्शन को देखकर आपको टीम में नहीं लिया जाएगा। बल्कि मौजूदा प्रदर्शन को देखकर आपका चयन होता है। जिस दिन पिछले प्रदर्शन को देखकर लोगों का चयन होने लगेगा तो मैं समझूंगा कि ये क्रिकेट छोड़ने का समय है। आप उतने अच्छे हो जितना अच्छा प्रदर्शन आपने आखिरी पारी में किया है। इसी से मुझे प्रेरणा मिलती है।”

गंभीर ने आगे कहा, “मैं कभी चयन के बारे में नहीं सोचता। मैं आगे भी इस बारे में नहीं सोचूंगा। चयन आपके हाथ में नहीं है। आपके हाथे में केवल रन बनाना और अच्छा प्रदर्शन करना है। और जब आप रन बनाते हैं तो आप अच्छा महसूस करते हैं।”