लालचंद राजपूत
लालचंद राजपूत

एक तरफ जहां टीम इंडिया के हेड कोच अनिल कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है वहीं दूसरी ओर बीसीसीआई टीम इंडिया के लिए नए कोच की तलाश भी कर रही है। बीसीसीआई को श्रीलंका दौरे से पहले टीम इंडिया के लिए नया कोच ढूंढना है। कोच बनने के लिए पहले ही बोर्ड के पास 5 नाम हैं लेकिन बोर्ड अब कोच पद के लिए और आवेदकों की तलाश में है। बीसीसीआई के इस रवैये पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी और अफगानिस्तान के मौजूदा मुख्य कोच लालचंद राजपूत ने बोर्ड के फैसले की कड़ी आलोचना की है।

राजपूत ने एक इंटरव्यू में कहा कि बीसीसीआई का ये कदम उन लोगों के लिए अपमानजनक है, जिन्होंने कोच के लिए पहले से ही आवेदन कर रखा है। राजपूत ने इसे बोर्ड का गैरपेशेवर रवैया करार दिया है, साथ ही कहा है कि कुंबले के इस्तीफे के बाद कोच के लिए बचे 5 आवेदकों पर बीसीसीआई को भरोसा नहीं है, तभी वो और नामों की तलाश में है। भारत बनाम वेस्टइंडीज, पहला वनडे प्रिव्यू: जीत के साथ आगाज करने का होगा दोनों टीमों का इरादा]

लालचंज राजपूत ने आगे कहा कि ये जरूरी नहीं कि वही कोच पद के लिए उपयुक्त है, जो खिलाड़ी के रूप में बड़ा रिकॉर्ड रखता हो। 55 साल के लालचंद राजपूत टीम इंडिया के हेड कोच पद के लिए अप्लाई करने वालों में शामिल हैं। 31 मई को आवेदन की समय सीमा खत्म हो चुकी है। उनके अलावा वीरेंद्र सहवाग, टॉम मूडी, रिचर्ड पाइबस, डोड्डा गणेश भी कोच पद के दावेदारों में हैं। ऑस्ट्रेलियाई बॉलिंग कोच रहे क्रेग मैकडरमॉट का आवेदन तय समय के अंदर नहीं मिलने पर स्वीकार नहीं किया गया