भारतीय क्रिकेट टीम ने विराट कोहली की अगुआई में न्यूजीलैंड में 5 मैचों की टी-20 सीरीज में मेजबान टीम का क्लीनस्वीप कर इतिहास रच दिया. इस समय वर्ल्ड क्रिकेट में टीम इंडिया की जमकर सराहना हो रही है.

न्यूजीलैंड को क्लीन स्वीप कर टी20I के सबसे सफल कप्तान बने विराट कोहली

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज इयान चैपल ने ‘अत्यधिक भावनात्मक स्वभाव’ का इस्तेमाल सकारात्मक तरीके से प्रतिभाशाली टीम के निर्माण के लिए करने और विदेशों में टीम को सफलता दिलाने के लिए भारतीय कप्तान विराट कोहली की तारीफ की.

भारत ने रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ पांचवें और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में जीत दर्ज करके श्रृंखला को 5-0 से अपने नाम किया.

चैपल ने वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो पर लिखा, ‘जब वह पहली बार कप्तान बने, खासकर टेस्ट टीम के तो मुझे लगा कि उनका अत्यधिक भावनात्मक स्वभाव उनकी नेतृत्व क्षमता के लिए हानिकारक हो सकता है. इसके उलट उन्होंने अपनी भावनाओं का इस्तेमाल इस तरह से किया कि वह टीम के खिलाफ नहीं गया.’

उन्होंने कहा, ‘ऐसा इसलिए संभव हो सका क्योंकि वह खेल में अपने दृष्टिकोण को लेकर बिलकुल स्पष्ट हैं. भारतीय टीम कोहली की कप्तानी में ‘बहुमुखी प्रतिभा की धनी’ हुई है जिससे टीम ने विदेशों में बेहतर प्रदर्शन किया है. कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम की एक और खासियत लगातार अच्छा प्रदर्शन करना रहा है. तीनों प्रारूप की अलग-अलग चुनौतियों के बाद भी टीम लगातार जीत दर्ज कर रही है. टीम बहुमुखी प्रतिभा की धनी हो गई है जिससे वे विदेशों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं.’

केएल राहुल ने कहा- हर बार मैदान पर उतरते समय जीत के बारे में ही सोचते हैं

इस पूर्व दिग्गज ने कहा, ‘टीम में इस जीतने वाली मानसिकता का निर्माण करने के लिए तीनों प्रारूप के कप्तान कोहली को श्रेय दिया जाना चाहिए. जब एक कप्तान नियमित रूप से सफलतापूर्वक टीम का नेतृत्व करता है खासकर जब हार के जबड़े से टीम को जीत दिलाता है तब टीम यह मानने लगती है कि वह चमत्कारी खिलाड़ी है.’

भारतीय टीम अब न्यूजीलैंड के साथ 3 मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी.