ICC World Cup team is balanced, but Rishabh Pant should have made it:  Karsan Ghavri
Rishabh Pant @IANS

आईसीसी विश्व कप के लिए चुनी गई भारतीय टीम को लेकर दिग्गजों की प्रतिक्रियाएं आ रही है। लगभग सभी ने टीम को संतुलित बताया है। पूर्व तेज गेंदबाज करसन घावरी का मानना है कि भारत की ‘अच्छी और संतुलित’ टीम चुनी गई है लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि रिषभ पंत को इस टीम में जगह बनानी चाहिए थी।

घावरी ने कहा कि दिनेश कार्तिक की बेहतर विकेटकीपिंग क्षमता के कारण संभवत: पंत ने टीम में दूसरे विकेटकीपर का स्थान गंवा दिया। घावरी ने मंगलवार को पीटीआई से कहा, ‘‘मेरे मुताबिक यह काफी अच्छी और संतुलित टीम है लेकिन मुझे लगता है कि रिषभ पंत को इसमें जगह बनानी चाहिए थी।’’

पढ़ें:- विश्व कप टीम में नहीं चुने जाने पर अंबाती रायडू ने किया तंज भरा ट्वीट

उन्होंने कहा, ‘‘चयनकर्ताओं और काफी लोगों ने सोचा कि विकेटकीपिंग क्षमता में उसके पास दिनेश कार्तिक का जवाब नहीं है। विकेटकीपिंग भी महत्वपूर्ण है।’’

घावरी ने कहा, ‘‘लेकिन उनका टीम में होना फायदे की स्थिति होती क्योंकि मेरे अनुसार वह कहीं बेहतर बल्लेबाज है।’’

विश्व कप 1979 में भारतीय टीम का हिस्सा रहे घावरी ने कहा, ‘‘वह मैच विजेता है और अपने दम पर मैच जिता सकता है। लेकिन चयनकर्ताओं और कप्तान ने जो भी सोचा हो, मुझे लगता है कि उन्होंने सर्वश्रेष्ठ टीम चुनी है।’’

पढ़ें:- अंबाती रायडू को विश्व कप टीम से बाहर किया जाना दुखद : गौतम गंभीर

घावरी का मानना है कि अंबाती रायडू को विजय शंकर की जगह टीम में शामिल किया जाना चाहिए था लेकिन उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के खिलाड़ी की ऑलराउंड क्षमता ने उनका पलड़ा भारी किया।

उन्होंने कहा, ‘‘शंकर के साथ फायदे की स्थिति यह है कि वह ऐसे बल्लेबाज हैं जो गेंदबाजी भी कर सकते हैं। इस टीम में 1983 की टीम की तरह चार-पांच ऑलराउंडर हैं जो बल्ले और गेंद से प्रदर्शन के अलावा क्षेत्ररक्षण में भी योगदान दे सकते हैं।’’

चयन समिति के पूर्व अध्यक्ष चंदू बोर्डे ने कहा कि अब टीम में तीन-चार विकेटकीपर हैं। उन्होंने कहा, ‘‘टीम में अब तीन या चार विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। एक महेंद्र सिंह धोनी, दूसरे कार्तिक, (लोकेश) राहुल भी विकेटकीपिंग कर सकते हैं और (केदार) जाधव भी। विकेटकीपर बल्लेबाजों के मामले में यह काफी अच्छी स्थिति है।’’

बोर्डे ने पंत को निराश नहीं होने की सलाह देते हुए कहा कि उनका भविष्य उज्जवल है।