thakur

जब से टी20 क्रिकेट शुरू हुआ है तबसे मैदान पर अक्सर क्रिकेटरों का गुस्सा गाहे- बगाहे उबल ही पड़ता है। खासकर बल्लेबाज और गेंदबाज के बीच तो थोड़ी सी नोंकझोक ही बड़ा रूप लेने में समय नहीं लेती। इस बीच सबसे डरावनी घटना ये है कि गेंदबाज झपट्टा मारते हुए गेंद पर लपके और बल्लेबाज को रन आउट करने के प्रयास में उसकी गेंद सीधे बल्लेबाज से जा टकराए। एक ऐसा ही वाकया हाल ही में भारत ए और ऑस्ट्रेलिया ए के मैच में देखने को मिला। जहां भारतीय तेज गेंदबाज शार्दुल शर्मा ने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज कैमरून बैक्रॉफ्ट की ओर एक तेज थ्रो फेंककर उन्हें गुस्से से आग बबूला कर दिया।

दरअसल, बैक्रॉफ्ट ने ठाकुर की गेंद को सीधे बैट से सामने की ओर खेला था। ठाकुर ने गुस्से में गेंद को अपने फॉलोथ्रू में पकड़ा और तेजी से बल्लेबाज की ओर फेका जो सीधे बल्लेबाज को लगी। यह शार्दुल ने एक बार नहीं बल्कि दो बार किया और दोनों बार गेंद बल्लेबाज को लगी।अगर कोई बैंक्रॉफ्ट का आत्मदर्शन करे तो तो निश्चित रूप से उस गेंद ने तेज गति से बैंक्रॉफ्ट को हिट किया था। हालांकि, ये साफ नहीं है कि गेंद ने बल्लेबाज के पैड को हिट किया या बैट को लेकिन ये साफ है कि बल्लेबाज उससे चोटिल नहीं हुआ। दोनों खिलाड़ियों ने एक दूसरे के प्रति तनातनी भी नहीं दिखाई। ठाकुर के तुरंत बैंक्रॉफ्ट से माफी मांग ली और ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने भी एक शरीफ क्रिकेटर की तरह बिना गुस्सा किए ठाकुर को प्रत्युत्तर दिया। हालांकि ये साफ है कि बैंक्रॉफ्ट उस समय बैटिंग क्रीज के बाहर खड़े थे।

बाद में वरुन अरोन ने बैंक्रॉफ्ट को 10 के स्कोर पर आउट कर दिया। कुछ समय के बाद जो बर्न्स और ठाकुर के बीच वैसी ही एक और घटना हुई। लेकिन इस दौरान ठाकुर ने माफी नहीं मांगी। बल्कि उन्होंने बर्न्स के खिलाफ ‘ऑब्सट्रक्टिंग इन दी फील्ड’ के तहत अपील की जिसे अंपायर ने इंकार कर दिया। साफ तौर पर कहें तो ठाकुर के द्वारा स्टंप्स को निशाना बनाना कुछ भी गलत नहीं है लेकिन जब गेंद बल्लेबाज को लग जाए तो उन्हें माफी तो मांगनी चाहिए।