वॉशिंगटन सुंदर © IANS
वॉशिंगटन सुंदर © IANS

दिलीप ट्रॉफी फाइनल में पहले दिन जहां इंडिया रेड के बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने सबसे कम उम्र में शतक जड़ने का रिकॉर्ड अपने नाम किया वहीं दूसरे दिन इसी टीम के बल्लेबाज वॉशिंगटन सुंदर ने भी एक बड़ा कारनामा किया। वॉशिंगटन सुंदर ने इंडिया ब्लू के खिलाफ खेले जा रहे दिलीप ट्रॉफी फाइनल में अर्धशतकीय पारी खेली और वो इस टूर्नामेंट में अर्धशतक लगाने वाले दूसरे सबसे युवा बल्लेबाज बन गए।

सिर्फ 17 साल 355 दिन के वॉशिंगटन सुंदर ने फाइनल में 88 रनों की पारी खेली। आपको बता दें सबसे कम उम्र में दिलीप ट्रॉफी में अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड लक्ष्मण सिंह के नाम है। उन्होंने साल 1968 में 16 साल 23 दिन की उम्र में सेंट्रल जोन के लिए खेलते हुए दिलीप ट्रॉफी में अर्धशतक जड़ा था। 16 साल 307 दिन की उम्र में लेग स्पिनर पीयूष चावला ने भी दिलीप ट्रॉफी में अर्धशतकीय पारी खेली थी। युवराज सिंह ने यो-यो टेस्ट में पास होने के लिए शुरू की कड़ी प्रैक्टिस? देखिए वीडियो

वॉशिंगटन सुंदर की 6 चौकों और 5 छक्कों से सजी अर्धशतकीय पारी और पृथ्वी शॉ-दिनेश कार्तिक के शतकों के दम पर इंडिया रेड ने पहली पारी में 483 रनों का विशाल स्कोर बनाया। इंडिया ब्लू के लिए भार्गव भट्ट ने सबसे ज्यादा 4 और अक्षर वखारे ने 3 विकेट झटके। इंडिया रेड के बड़े स्कोर के जवाब में इंडिया ब्लू की शुरुआत बेहद खराब रही। खबर लिखे जाने तक इंडिया ब्लू ने 5 विकेट खोकर सिर्फ 181 रन बनाए थे। सुरेश रैना सिर्फ 1 रन पर आउट हो गए। ईशान किशन खाता नहीं खोल सके और दीपक हुड्डा का बल्ला भी 12 रन पर ही थम गया। सिर्फ ओपनर अभिमन्यु इस्वरन ही अर्धशतक जमाकर 87 रन पर नाबाद थे।