India Tour Of Australia 2020-21: भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच 4 मैचों की टेस्ट सीरीज 17 दिसंबर से खेली जाएगी. सीरीज का पहला टेस्ट मैच एडिलेड (Adelaide Test) में खेला जाएगा जो डे नाइट होगा.  पिंक बॉल से इस टेस्ट मैच को खेला जाएगा. पहले टेस्ट के बाद टीम इंडिया के नियमित कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) स्वदेश लौट आएंगे.

कोहली के स्वदेश लौटने पर टीम कॉम्बिनेशन को लेकर बहस छिड़ गई है.  टीम इंडिया (Team India) को कोहली मिडिल ऑर्डर में मजबूती प्रदान करते हैं.  उनकी अनुपस्थिति में मध्यक्रम के बल्लेबाजों पर अधिक दबाव आ जाएगा.

रहाणे और पुजारा देंगे मिडिल ऑर्डर को मजबूती

हालांकि अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) टीम इंडिया के साथ हैं.  केएल राहुल (kl rahul) और रोहित शर्मा (Rohit Sharma) भी मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी कर सकते हैं.  रोहित साफ कर चुके हैं कि वह किसी भी क्रम पर बल्लेबाजी को तैयार हैं.  अन्य ओपनर मयंक अग्रवाल (Mayank Agarwal) के बतौर सलामी बल्लेबाज उतरने की उम्मीद है जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था.

भारतीय टीम के अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने इंडिया टूडे से कहा, ‘मैं ओपनिंग कॉम्बिनेशन को नहीं छेड़ना चाहूंगा. रोहित को ऑस्ट्रेलिया में ओपनिंग करनी चाहिए.  केएल राहुल कप्तान विराट कोहली की जगह को भर सकते हैं.  राहुल नंबर तीन और चार या ओपन भी कर सकते हैं.  यदि राहुल नंबर तीन पर बल्लेबाजी करते हैं तो इससे कोई फर्क नहीं  पड़ता क्योंकि वह एक बेहतरीन बल्लेबाज हैं. ‘

विदेश में टीम इंडिया का पहला डे नाइट टेस्ट 

भारतीय टीम का विदेश में ये पहला डे नाइट टेस्ट मैच होगा.  इससे पहले टीम इंडिया ने अपना पहला डे नाइट टेस्ट कोलकाता में बांग्लादेश के खिलाफ खेला था.  हरभजन को उम्मीद है कि भारतीय टीम एडिलेड टेस्ट जीतने में सफज रहेगी.

40 वर्षीय हरभजन का कहना है कि भारत के पास मोहम्मद शमी (Mohammad Shami), जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) और इशांत शर्मा (Ishant Sharma) के रूप में बेहतरीन पेस अटैक है जो ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम को तहस नहस कर सकता है.