चेन्नई की पिच की आलोचनाओं के बीच भारतीय टीम ने एमए चिदंबरम स्टेडियम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को 317 रनों से हराकर चार मैचों की सीरीज में वापसी कर ली है। टीम इंडिया की इस जीत में अहम भूमिका निभाई स्पिन ऑलराउंडर रविचंद्रन अश्विन ने, जिन्होंने अपने घरेलू मैदान पर शतक जड़ने के साथ साथ 8 विकेट भी लिए।

1- वहीं मैच में कुल 7 विकेट लेने वाले अक्षर पटेल डेब्यू मैच में पांच विकेट हॉल लेने वाले छठें भारतीय स्पिनर बने। पटेल से पहले ये कारनामा अश्विन, अमित मिश्रा, नरेंद्र हिरवानी, दिलीप दोषी और वमन कुमार कर चुके हैं।

2- इंग्लैंड के खिलाफ ये टीम इंडिया की अब तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज की। इससे पहले भारत ने 1986 में लीड्स में इंग्लैंड के खिलाफ 279 रन से जीत हासिल की थी।

3- भारत के लिए रनों के लिहाज से ये टेस्ट इतिहास की पांचवीं बड़ी जीत है। भारत ने अपनी सबसे बड़ी छह जीत में से पांच जीत विराट कोहली की अगुवाई में दर्ज की हैं।

भारत के लिए सबसे बड़ी टेस्ट जीत (रन के लिहाज से)

337 रन से दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ, दिल्ली 2015/16

321 रन से न्यूजीलैंड के खिलाफ, इंदौर 2016/17

320 रन से ऑस्ट्रेेलिया के खिलाफ, मोहाली 2008/09

318 रन से वेस्टइंडीज के खिलाफ, नॉर्थ साउंड 2019

317 रन से इंग्लैंड के खिलाफ,  चेन्नई 2020/21

भारत ने इस जीत से सीरीज में बराबरी कर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को बनाए रखा। इसके लिए उसे सीरीज में अब कम से कम 2-1 से जीत दर्ज करनी होगी। इंग्लैंड ने इसी स्थान पर पहला मैच 227 रन से जीता था। अगले दोनों मैच अहमदाबाद के सरदार पटेल मोटेरा स्टेडियम में खेले जाएंगे। तीसरा टेस्ट 24 फरवरी से शुरू होगा।