पांच दिन के शानदार क्रिकेट और दोनों टीमों की ओर से कुछ खिलाड़ियों ने बेहतरीन निजी प्रदर्शन के बावजूद भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेला गया पहला टेस्ट मैच ड्रॉ हो गया। कानपुर के ग्रीन पार्क स्टेडियम में खेले गए मैच के आखिरी दिन भारत के दिए 284 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए कीवी टीम ने 9 विकेट पर 165 रन बनाए।

भारतीय टीम मात्र एक विकेट ना लेन पाने की वजह से मैच जीतने में नाकाम रही। हालांकि टीम के सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने कहा कि भले ही मेजबान जीत हासिल ना कर पाए हों लेकिन सभी ने अच्छा प्रदर्शन किया।

कानपुर टेस्ट ड्रॉ होने के बाद भारतीय गेंदबाज ने कहा, ” काम पूरा नहीं हो सका लेकिन हमने अच्छी तरह से एक साथ प्रदर्शन किया।”

अश्विन ने कहा, “हम वास्तव में चीजों को नियंत्रण में रख रहे थे। हम अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाजी कर रहे थे और हमें पता था कि अगर हमारे पास आगे बढ़ने और उन पर कुछ दबाव डालने का समय है, तो हम काम पूरा कर सके लेकिन आखिरी सेशन में हमेशा रोशनी जाने वाली थी। इस टेस्ट मैच के हर एक दिन में खराब रोशनी रही है इसलिए हमने इसकी उम्मीद की थी, इसलिए कोई शिकायत नहीं है।”

इस दौरान अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती की भी प्रशंसा की। उन्होंने कहा, “टेस्ट क्रिकेट की खूबी ये है कि आपको इसे चाहने की जरूरत है। ये वास्तव में कठिन है, ये उन फॉर्मेट्स में से एक नहीं है जहां आप आते हैं, आपका दिन अच्छा हो, चार ओवर का अच्छा स्पेल हो या 20 ओवर की अच्छी बल्लेबाजी हो।”

उन्होंने कहा, “बहुत दर्द है, बहुत मेहनत है, बहुत तप है जिसे आपको खेलने में लाने की जरूरत होती है। निश्चित तौर पर मैं ऐसा व्यक्ति हूं जो इस फॉर्मेट में खेलना चाहता है और मैं इसका लुत्फ उठाता हूं।”