India win Ranchi Test by an innings and 202 runs;  whitewashed South Africa for the first time
भारतीय टेस्ट टीम (IANS)

रोहित शर्माअंजिक्य रहाणे की शतकीय पारियों के बाद गेंदबाजों के शानदार के दम पर भारतीय टीम ने रांची टेस्ट में एक पारी और 202 रन से बड़ी जीत हासिल की। इस जीत के साथ टीम इंडिया ने पहली बार टेस्ट सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को क्लीन स्वीप पर इतिहास रच दिया है। घरेलू मैदान पर टीम इंडिया की ये लगातार 11वीं टेस्ट सीरीज जीत है।

दक्षिण अफ्रीका टीम साल 1935/36 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घर में (तीन टेस्ट) पारी के अंतर से हारने के बाद पहली बार लगातार दो मैच पारी के अंतर से हारी है।

दूसरी पारी में भारत की ओर से मोहम्मद शमी ने सर्वाधिक तीन विकेट लिए। उमेश यादव और शाहबाज नदीम को 2-2 सफलताएं मिली। जबकि सीनियर स्पिनर्स रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा के नाम 1-1 विकेट रहा।

मैच के आखिरी दिन 203 रन से पीछे चल रही मेहमान टीम 132/8 के स्कोर से आगे बल्लेबाजी करने उतरी। भारत को दिन की पहली सफलता नदीम ने दिलाई। नदीम ने दूसरे ओवर में थ्यूनिस डी ब्रॉयन को विकेटकीपर रिद्धिमान साहा के हाथों कैच आउट करना दक्षिण अफ्रीका नौवां विकेट लिया। अगली गेंद पर लुंगी एनगिडी को खुद ही कैच आउट कर मेहमान टीम की पारी 133 रन पर समेटी। इस दौरान एनरिक नॉर्टजे गेंद हाथ पर लगने से घायल हो गए।

टीम इंडिया ने जीता रांची टेस्ट; 3-0 से सीरीज पर कब्जा

टीम इंडिया की जीत की नींव पहली पारी में रोहित और रहाणे की 267 रन की साझेदारी ने रखी। सलामी बल्लेबाज रोहित ने टेस्ट क्रिकेट में अपना पहला दोहरा शतक जड़ा। वहीं रहाणे ने तीन साल बाद घरेलू जमीन पर शतकीय पारी खेली। कगीसो रबाडा और एनरिक नॉर्टजे के शुरुआती अटैक की बदौलत 39 रन पर तीन विकेट खोने के बाद रोहित और रहाणे ने मिलकर भारत को 497/9 के विशाल स्कोर तक पहुंचाया। इस दौरान रवींद्र जडेजा ने अर्धशतकीय पारी खेली, वहीं उमेश ने 10 गेंदो पर पांच छक्कों की मदद से 31 रन की विस्फोटक पारी खेल सभी का मनोरंजन किया।

कप्तान कोहली के पारी घोषित करने के बाद गेंदबाजों का काम शुरू हुआ। भारतीय गेंदबाजों ने एक बार फिर प्रोटियाज बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें खड़ी की। डेब्यू मैच खेल रहे जुबैर हमजा ने जरूर 62 रन की पारी खेली लेकिन इसके बावजूद मेहमान टीम 162 रन पर ढेर हो गई। दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में उमेश ने तीन विकेट लिए जबकि शमी, जडेजा और नदीम को 2-2 सफलताएं मिली।

‘मोहम्मद शमी-उमेश यादव ने शानदार गेंदबाजी से खेल भारत के नियंत्रण में बनाए रखा’

335 रन की बढ़त के साथ कोहली ने दक्षिण अफ्रीका को फॉलोऑन दिया। दूसरी पारी में भी ना तो दक्षिण अफ्रीका की बल्लेबाजी में कोई बदलाव हुआ और ना ही भारत की गेंदबाजी में। शमी और उमेश ने एक बार फिर भारत को शुरुआती विकेट दिलाए और मात्र 36 रन के स्कोर पर आधी प्रोटियाज टीम को पवेलियन पहुंचा दिया।

जहां से स्पिन गेंदबाजों का काम शुरू हुआ और जडेजा-अश्विन ने मिलकर तीसरे दिन का खेल खत्म होने कर 132 रन पर दक्षिण अफ्रीका के आठ विकेट गिरा दिए। चौथे दिन तेज गेंदबाजों ने बचा हुआ काम नदीम ने पूरा दिया और मेहमान टीम को 133 के स्कोर पर ऑलआउट तक एक पारी और 202 रन से मैच जीत लिया।