India Women vs West Indies Women: Indian women Cricket  team stuck in Windies without allowance
indian-women-team @ Twitter

बीसीसीआई (BCCI) को दुनिया का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड माना जाता है लेकिन इसके बावजूद भारतीय क्रिकेट टीम पैसों की कमी के कारण किसी देश में फंस गई हो, ऐसा पहली बार सुना है। जी हां, भारतीय राष्‍ट्रीय महिला टीम (Indian Women Team) के साथ कुछ ऐसा ही हुआ है।

पढ़ें:- बैन के बाद शाकिब अल हसन ने एमसीसी से दिया इस्तीफा

विंडीज दौरे पर तीन वनडे और पांच टी-20 मैचों की सीरीज खेलने गई भारतीय महिला टीम दैनिक भत्ता न मिलने के कारण वेस्टइंडीज में फंस गई है। बीसीसीआई को जैसे ही इसकी खबर मिली तो वो तुरंत हरकत में आए और कप्‍तान मिताली राज व उनकी टीम के खाते में भत्ते जमा कराए।

इस घटना के सामने आने के बीसीसीआई के जीएम सबा करीम (Saba Karim) पर सवाल उठ रहे हैं। बीसीसीआई की टीम में शामिल हुए नए अधिकारियों ने बुधवार को जल्द से जल्द खिलाड़ियों के खाते में राशि जमा कराकर परेशानी का हल निकाला।

पढ़ें:- पढ़ें: सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी: दिनेश कार्तिक होंगे तमिलनाडु के कप्तान

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस से बात करते हुए बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “COA के तहत काम को लेकर बहुत अच्छी बातें हुई और उसके बावजूद हमें ऐसा दिन देखना पड़ा जब हमारी लड़कियां बिना पैसों के विदेशी सरजमीं पर मौजूद थी। इसका कौन जि़म्मेदार है?”

“यदि पूरी वित्तीय प्रक्रिया 18 सितंबर को शुरू की गई थी, तो दस्तावेजों के पूरा होने में 24 अक्टूबर तक का समय क्यों लगा? अगर यह नए पदाधिकारियों ने मुस्तैदी नहीं दिखाई होती तो हम लड़कियों को बिना भत्ते के संघर्ष करते हुए देखते।”