शमी फिलहाल बेगलौर में अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहे हैं।© Getty Images
शमी फिलहाल बेगलौर में अपनी फिटनेस पर ध्यान दे रहे हैं।© Getty Images

भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी एक बार फिर सोशल मीडिया के अराजक तत्वों का शिकार बने। शमी ने अपने फेसबुक पेज पर सुरक्षा टीम के एक कुत्ते के साथ फोटो डाली जिसके बाद लोगों ने इस पोस्ट पर उन्हें गैर-इस्लामी कहना शुरू कर दिया। शमी हाल ही में अपने बीमार पिता को देखने गुड़गांव आए थे। शमी के पिता को हार्ट अटैक आने के बाद अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया था। ऑपरेशन के बाद उनकी तबियत में सुधार आने के बाद वापस बैंगलौर आ गए। शमी यहां नेशनल क्रिकेट अकादमी में चोट से उभरने के बाद अपनी फिटनेस पर काम कर रहे हैं। ये भी पढ़ें: हेजल ने युवराज सिंह के लिए लिखा भावुक पोस्ट

शमी इससे पहले भी सोशल मीडिया पर इस तरह के व्यवहार का शिकार हो चुके हैं। शमी ने अपनी पत्नी और बच्ची के साथ फेसबुक पर एक फोटो शेयर की थी। जिसमें उनकी पत्नी के कपड़ों को लेकर लोगों ने भद्दे कमेंट करना शुरू कर दिया और उन्हें गैंर इस्लामी कहा। लोगों का कहना था कि शमी को अपनी पत्नी को इस तरह के कपड़े नहीं पहनने देने चाहिए। इसके बाद शमी ने भी इसका जवाब देते हुए एक और फोटो पोस्ट की और कहा कि मुझे इस तरह के लोगों से कोई फर्क नहीं पड़ता। इस मामले पर मोहम्मद कैफ ने भी उनका साथ दिया था जिस वजह से बाद में उन्हें भी इसी स्थितिस से गुजरना पड़ा। ट्विटर पर सूर्य नमस्कार करती हुई फोटो डालने पर उन्हें भी गैर इस्लामी कहा जाने लगा। इस विवाद को थमे कुछ समय भी नहीं हुआ था और एक बार फिर सोशल मीडिया ने अपना काला चेहरा दिखा दिया। ये भी पढ़ें: जब 414 रन बनाकर भी केवल तीन रन से जीती थी टीम इंडिया

शमी की इस पोस्ट पर हालांकि कई फैंस ने उनका समर्थन भी किया।वहीं कई लोगों ने फिर से उनकी तुलना इरफान पठान से की। इस तरह के कमेंट कर लोगों ने यह बता दिया कि पिछले विवाद से उन्होंने कुछ भी नहीं सीखा। शमी की ओर से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। शायद बेहतर यही होगा कि वह इस तरह की मानसिकता वाले लोगों पर ध्यान न दें।