जीत की हैट्रिक लगा चुकी महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली चेन्‍नई इंडियन टी-20 लीग के अपने चौथे मैच में बुधवार को मेजबान मुंबई के खिलाफ वानखेड़े स्टेडियम में उतरेगी।

मुंबई को पिछले मैच में पंजाब के हाथों हार मिली थी। उसके हिस्से तीन मैचों में सिर्फ एक ही जीत आई है जबकि दो हार उसे मिली है। बावजूद इसके मुंबई को हल्के में लेना किसी भी टीम के लिए सही नहीं होगा।

पढ़ें: पर्पल कैप धारी युजवेंद्र चहल बोले-हमें सकारात्‍मक रहने की जरूरत है

चेन्नई अंकतालिका में बेशक पहले स्थान पर है लेकिन उसे छठे स्थान पर मौजूद मुंबई से सावधान रहने की जरूरत है। चेन्नई अच्छी फॉर्म में हैं और उसका हर खिलाड़ी अपने तरीके से टीम के प्रदर्शन में योगदान दे रहा है। पिछले मैच में टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शानदार पारी खेल न सिर्फ टीम को संकट से निकाला था बल्कि टीम की जीत की नींव भी रखी थी।

चेन्नई की बल्लेबाजी और गेंदबाजी में गहराई है। बल्लेबाजी में उसके पास शेन वॉटसन, सुरेश रैना, केदार जाधव और अंबाती रायडू जैसे अनुभवी और कभी भी मैच को बदलने वाले खिलाड़ी हैं।

पढ़ें: धोनी की पारी, ब्रावो-ताहिर की शानदार गेंदबाजी रही जीत का फैक्टर

मुंबई में वो तालमेल नहीं दिखा है जो उसके पास मौजूद है। मैदान पर उसके खिलाड़ी लय में नहीं दिखे हैं। बल्लेबाजी में दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक ही कुछ कमाल दिखा पाए हैं जबकि रोहित शर्मा, कीरोन पोलार्ड का बल्ला खामोश रहा है।