एमएस धोनी © AFP
एमएस धोनी © AFP

मौजूदा सीजन की शुरुआत में एमएस धोनी को अनौपचारिक रूप से कप्तानी से हटाने को लेकर पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन ने पुणे टीम के मालिक को आड़े हाथों लिया है। भला हो एमएस धोनी और स्टीवन स्मिथ के बीच अच्छे रिश्तों का, कि दोनों ने एकसाथ काम करते हुए अपनी टीम को टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाने में सफलता अर्जित की। टूर्नामेंट का फाइनल रविवार को खेला जाएगा लेकिन अजहर अभी भी अपनी बात पर दृढ़ हैं कि जिस तरह से धोनी को उनकी कप्तानी से हटाया गया वह गलत था। जैसा कि धोनी पूर्व में ज्यादातर आईपीएल फाइनल में खेले हैं। अजहर को लगता है कि अब धोनी को अपनी अहमियत जताने की जरूरत है।

अजहर ने इंडिया टुडे से बातचीत में बताया, “धोनी कप्तान के रूप में हमेशा जीते हैं। अब शायद उन्हें खिलाड़ी के तौर पर जीतने की जरूरत है। उन्हें ये सिद्ध करने की कोशिश करनी चाहिए कि मैं एक खिलाड़ी के तौर पर भी जीत सकता हूं।” अन्य दूरदर्शियों की तरह अजहर भी कप्तान धोनी और स्मिथ के बीच चल रही कप्तानी की जुगलबंदी से हतप्रभ हैं क्योंकि दोनों ने बड़े आराम से कप्तानी को हस्ताांरित किया। उन्होंने कहा, “जब आप कप्तान नहीं हो, तो आप आगे बढ़ो। मैं बर्खास्त करने के पक्ष में नहीं था लेकिन अब धोनी और स्मिथ ने आपस में अच्छा तालमेल बिठाया है, दोनों एक दूसरे के साथ अच्छे घुले-मिले हैं, तभी टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया है।” ये भी पढ़ें: पुणे के धमाके के पीछे है इन ‘धुरंधरों’ का हाथ!

उनकी फॉर्म को देखते हुए, कलाईयों के जादूगर ने पुणे टीम को कहा, आगे बढ़ो और ट्रॉफी हासिल करो। उन्होंने भविष्यवाणी की, “मुझे लगता है कि पुणे जीतेगी। जो प्लेऑफ उन्होंने मुंबई के खिलाफ जीता था वह बहुत विश्वास बढ़ाने वाला होगा। बेन स्टोक्स की हालांकि, कमी खलेगी। लेकिन जिस तरह से धोनी खेल रहे हैं, जो 40 रन उन्होंने पिछले मैच में उन दो ओवरों में बनाए थे, वह टीम को फाइनल जिताने में मदद कर सकते हैं।”