विराट कोहली  © AFP
विराट कोहली © AFP

विराट कोहली आईपीएल 10 में वापसी के लिए बेकरार हैं। कोहली मुंबई इंडियंस के खिलाफ शुक्रवार(14 अप्रैल) को खेले जाने वाले मैच के साथ आईपीएल में वापसी कर रहे हैं। वापसी के साथ कोहली का मानना है कि अब वे लक्ष्य को चेज करना ज्यादा पसंद करेंगे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रांची टेस्ट में कंधा चोटिल हो जाने के कारण वह आईपीएल के शुरुआती दो मैच नहीं खेल पाए। क्रिस गेल और डीविलियर्स ने अब तक एक- एक मैच खेला और इन दोनों मैचों में आरसीबी ने पहले बल्लेबाजी करते हुए लक्ष्य सेट किया है।

मुंबई इंडियंस के खिलाफ मुकाबले के पहले कोहली के ने कहा, “अब जैसा कि मैं वापस आ गया हूं और सभी विशेषज्ञ बल्लेबाज खेल रहे हैं, तो इस बार फिर से सोच बदल सकती है। बैंगलोर एक ऐसा मैदान रहा है जहां आप बड़े स्कोर को चेज कर सकते हैं और जैसा कि शुक्रवार को होने वाला मैच दिन में होगा तो चेज करना और भी जरूरी होगा क्योंकि दिन की बजाय लाइट की रोशनी में विकेट बेहतर होता है। हम जानते हैं कि हम अपने घरेलू मैदान पर अच्छी क्रिकेट खेलते हैं लेकिन पिछले साल हमने घर के बाहर भी अच्छे मैच जीते इसीलिए हम फाइनल में पहुंचे, इसलिए वह आईपीएल में मुख्य कारक है। हमें घर के बाहर भी मैच जीतने होंगे। इस चीज को हम पूरे सीजन में ध्यान में रखेंगे, अगर हमें प्ले- ऑफ में पहुंचना है तो।” [ये भी पढ़ें: मुंबई इंडियंस को ‘विराट’ चुनौती देगी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर]

 

कोहली ने कहा कि वह शुक्रवार को डीविलियर्स और गेल दोनों के साथ खेल सकते हैं और जाधव विकेटकीपिंग करेंगे। उन्होंने कहा, “क्रिस हमेशा हमारे लिए प्राथमिकता रहे हैं। पिछले मैच में एक अलग योजना थी जिसमें एबी और वॉटसन को खिलाया गया, और अन्य दो गेंदबाज अच्छी बॉलिंग कर रहे थे। मुझे लगता है इसीलिए क्रिस को जगह नहीं मिली। लेकिन हां, जो भी बैंगलोर के लिए काम करेगा हम मजबूत संयोजन के साथ मैदान पर उतरेंगे। घरेलू मैच में खेलने के लिए क्रिस हमारे लिए शीर्ष प्रतिस्पर्धी हैं।”

 

कोहली से पूछा गया कि टीम के साथ पहले दो मैचों में यात्रा करना, क्या सोचा- समझा हुआ फैसला था तो इसके जवाब में कोहली ने कहा, “जब आप टीम के साथ यात्रा करते हो तो वहां बहुत कुछ होता है और किसी एक व्यक्ति पर ध्यान केंद्रित करना ठीक नहीं होता। इसलिए आप अलग रहते हो और फिर अपना काम करते हो। मैं चाहता था कि खिलाड़ी अपने मैच में ध्यान केंद्रित करें और अपने हिसाब से अपना काम करें।” उन्होंने आगे कहा कि उन्हें खुद को लाइमलाइट से दूर ले जाना पसंद आया। उन्होंने कहा, “बहरहाल, मुझे लाइमलाइट से दूर होना थोड़ा पसंद आया, जब मैं डगआउट में बैठा हुआ था तब कैमरा नहीं था। तो मुझे लगता है कि वह काफी ताजगी भरा माहौल था। वह मेरे लिए अच्छा ब्रेक(विश्राम) था।

कोहली की गैर- मौजूदगी में शेन वॉटसन ने टीम की अगुआई की लेकिन कप्तान ने उनके कप्तानी स्टाइल पर कुछ कहने से इंकार कर दिया लेकिन कहा कि उन्होंने कुछ चीजें सीखीं और ऑस्ट्रेलियाई ने अच्छा काम किया। उन्होंने कहा, “मैं उस पोजीशन पर नहीं हूं कि मैं किसी पर निर्णय दूं। ये मैंने खुद के बारे में भी कहा है। मैं कप्तान के रूप में वरिष्ठ नहीं हूं। हां, मैंने बहुत कुछ सीखा है और मैं उसे करना जारी रखूंगा। मुझे लगता है कि शेन ने अच्छा काम किया है। वह उनके साथ बहुत धैर्यवान दिखाई दिए। उनके पास खुद की योजना थी।”

डीविलियर्स की नेट पर गैर- मौजूदगी के बारे में बातचीत करते हुए कोहली ने कहा कि डीविलियर्स अच्छे फॉर्म में हैं इसलिए उन्हें अपने परिवार के साथ वक्त बिताने के लिए छुट्टी दी गई है। कोहली ने कहा, “एबी के साथ आप किसी चीज पर सवाल नहीं कर सकते क्योंकि वह अपने गेम को किसी से भी बेहतर जानते हैं। उन्होंने आज प्रेक्टिश नहीं की हम इससे कतई परेशान नहीं हैं। यह उनके द्वारा लिया गया सोचा- समझा फैसला था और वह कुछ समय क्रिकेट से दूर बिताना चाहते थे।”

अपनी विपक्षी टीम मुंबई इंडियंस के बारे में बातचीत करते हुए कोहली ने मुंबई को बेहतरीन टीम बताया। उन्होंने कहा, “आईपीएल में आप किसी भी टीम को हल्के में नहीं ले सकते, लेकिन मुंबई टूर्नामेंट की सबसे मजबूत टीमों में से एक है। और हमें जाहिर तौर पर इसका सम्मान करना होगा और अपनी मजबूती पर ध्यान केंद्रित करना होगा कि हम एक टीम के तौर क्या प्राप्त कर सकते हैं और उसी समय हमें ये ध्यान में रखना होगा कि मुंबई क्या अलग कर सकती है।”