IPL 2018: R Ashwin named captain of Kings XI Punjab
R Ashwin

चेन्‍नई सुपर किंग्‍स और राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के साथ पहले 10 आइपीएल सीजन के दौरान खेल चुके रविचंद्रन अश्चिन इस फार्मेट के 11वें सीजन में किंग्‍स इलेवन पंजाब की कप्‍तानी करेंगे। किंग्‍स इलेवन पंजाब ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के माध्‍यम से सोमवार को इसकी घोषणा की। भारतीय ऑफ स्पिनर अश्विन को किंग्‍स इलेवन पंजाब ने 7.6 करोड़ रुपये की रकम खर्च कर खरीदा था।

अश्विन अबतक चेन्‍नई सुपर किंग्‍स की तरफ से खेलने थे, लेकिन धोनी की टीम ने उन्‍हें रिटेन नहीं किया था। जिसके कारण अश्विन एक बार फिर से आक्‍शन में आ गए थे। पंजाब की टीम ने इसका फायदा उठाते हुए अश्विन को बड़ी रकम चुकाकर अपनी टीम में शामिल कर लिया था। अश्विन को कप्‍तानी की कमान सौंपने की औपचारिकताएं स्‍वायं वीरेंद्र सहवाग ने पूरी की। सहवाग किंग्‍स इलेवन पंजाब के फेसबुक पेज पर अश्विन के साथ लाइव है। इस दौरान उन्‍होंने अश्विन को टीम का कप्‍तान बनाए जाने की घोषणा की।

राहुल की मांग के सामने झुका बीसीसीआई, अब अंडर-19 विश्‍व विजेता टीम के सभी स्‍टॉफ को मिलेगा बराबर इनाम
राहुल की मांग के सामने झुका बीसीसीआई, अब अंडर-19 विश्‍व विजेता टीम के सभी स्‍टॉफ को मिलेगा बराबर इनाम

युवराज के नाम पर भी हुए विचार

पंजाब की टीम में युवराज सिंह व क्रिस गेल जैसे बड़े खिलाड़ी भी मौजूद हैं, लेकिन कप्‍तानी की कमान फिर भी उनसे काफी जूनियर अश्विन को सौंपी गई है। इसपर सहवाग ने कहा कि फैसला लेते वक्‍त टीम मैनेजमेंट ने युवराज सिंह के नाम पर गंभीरता से विचार किया था। युवराज मेरा अच्‍छा दोस्‍त भी है, लेकिन हमें एक ऐसा कप्‍तान पंजाब की टीम के लिए तैयार करना था जो अगले दो से तीन सीजन तक टीम की कप्‍तानी कर सके। टीम मैनेजमेंट ने एक स्‍वर में अश्विन का नाम ही कप्‍तानी के लिए सुझाया।

हमेशा एक गेंदबाज होता है अच्‍छा स्पिनर: वीरेंद्र सहवाग

सहवाग ने टीम मैनेजमेंट के निणर्य को सही ठहराते हुए कहा कि मैने अपने जीवन में यह महसूस किया है कि एक गेंदबाज ही टीम की अच्‍छी कप्‍तानी कर सकता है। मैने वसीम अकरम व कपिल देव जैसे गेंदबाजों को गेंदबाजी करते हुए देखा है। अश्विन स्‍मार्ट है। उसे पावर प्‍ले और अन्‍य ओवर में गेंदबाजी करने का अच्‍छा अनुभव है।

युवी भाई से सीखूंगा हैट्रिक लेना: अश्विन

फेसबुल लाइव के दौरान विरेंद्र सहवाग ने अश्विन से पूछा कि टीम में युवी और गेल जैसे खिलाड़ी हैं। ऐसे में तुम सीनियर्स से कैसे डील करोगे। इसपर अश्विन ने जवाब दिया कि वो हमारी टीम के सबसे अच्‍छे बललेबाज हैं। उन्‍हे खेलते हुए देखना बड़ा अच्‍छा लगता है। यूवी ने इस फार्मेट में हैट्रिक ली और मैं अबतक यह कारनामा नहीं कर पाया हूं। मैने 2010 में हैट्रिक ली थी, लेकिन उस मैच में अंपायर साइमन टॉफेल ने बल्‍लेबाज एंजेलो मैथ्यूज को आउट ही नहीं दिया। उस समय डीआरएस सिस्‍टम नहीं था। मैं युवी भाई से हैट्रिक लेने के टिप्‍स लूंगा।

कप्‍तान बनते ही पंजाबी रंग में ढले अश्विन

मूल रूप से तमिलनाडु के रहने वाले दक्षिण भारतीय अश्विन को पंजाबी टीम का कप्‍तान बनाया गया है। दक्षिण का उत्‍तर भारत से मिलना कुछ अलग जरूर है, लेकिन अश्विन ने अपने जिंदा दिल अंदाज में पंजाब की टीम के फैन्‍स का दिल जीतने में कोई कसर नहीं छोड़ी। अश्विन ने कप्‍तान बनते ही फेसबुल लाइव के दौरान सबसे पहले फैन्‍स को सत श्री अकाल कहकर संबाधित किया। सहवाग से बातचती के दौरान अश्विन ने कहा, ” वी लुक पंजाबी, वी प्‍ले पंजाबी”।