332 खिलाड़ी हुए शॉर्टलिस्ट, 2 करोड़ की लिस्ट में मैक्सवेल सहित 5 ऑस्ट्रेलियाई शामिल, देखें पूरी लिस्ट

IPL 2020 auction: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल 2020) के 13वें सीजन के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 19 दिसंबर, 2019 को कोलकाता में होगी. नीलामी के लिए शुरू में कुल 997 खिलाड़ियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था जिनमें से 332 को शॉर्टलिस्ट किया गया है.

‘डीजे’ ब्रावो ने संन्यास तोड़ इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी का किया ऐलान, टी-20 के लिए खुद को बताया उपलब्ध

हमेशा की तरह इस बार भी खिलाड़ियों का सर्वाधिक बेस प्राइस 2 करोड़ रुपये है जिनमें एक भी भारतीय खिलाड़ी शामिल नहीं है. इस लिस्ट में 7 विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं जिनमें 5 ऑस्ट्रेलिया के हैं.

विशाखापत्तनम वनडे से पहले टीम इंडिया से जुडेंगे जसप्रीत बुमराह, विराट-रोहित को होगा फायदा

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पैट कमिंस (Pat Cummins), जोश हेजलवुड (Josh Hazelwood), क्रिस लिन (Chris Lynn), मिचेल मार्श (Mitchell Marsh), ग्लेन मैक्सवेल (Glenn Maxwell) के अलावा दक्षिण अफ्रीका के पेसर डेल स्टेन (Dale Steyn) और श्रीलंकाई ऑलराउंडर एंजेलो मैथ्यूज (Angelo Mathews) ने अपना बेस प्राइस 2 करोड़ रुपये रखा है.

डेढ़ करोड़ के बेस प्राइस में रॉबिन उथप्पा के रूप में एकमात्र भारतीय शामिल

डेढ़ करोड़ के बेस प्राइस में रॉबिन उथप्पा (Robbin Uthappa) के रूप में एकमात्र भारतीय शामिल है. यानी भारतीयों में उथप्पा सबसे महंगे बेस प्राइस वाले होंगे. लेग स्पिनर पीयूष चावला (Piyush Chawla), ऑलराउंडर यूसुफ पठान (Yousuf Pathan)और जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) ने अपना बेस प्राइस 1 करोड़ रुपये रखा है.

नीलामी में 186 भारतीय खिलाड़ी लेंगे हिस्सा

आगामी नीलामी में भारत की ओर से 186 जबकि विदेश के 143 व एसोसिएट देश के 3 खिलाड़ी हिस्सा लेंगे. नीलामी भारतीय समयानुसार दोपहर 3:30 बजे से शुरू होगी.

2 करोड़ के बेस प्राइस वाले खिलाड़ी :-

खिलाड़ी देश बेस प्राइस
पैट कमिंस ऑस्ट्रेलिया 2 करोड़ रुपये
जोश हेजलवुड ऑस्ट्रेलिया 2 करोड़ रुपये
क्रिस लिन ऑस्ट्रेलिया 2 करोड़ रुपये
मिचेल मार्श ऑस्ट्रेलिया 2 करोड़ रुपये
ग्लेन मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया 2 करोड़ रुपये
डेल स्टेन साउथ अफ्रीका 2 करोड़ रुपये
एंजेलो मैथ्यूज श्रीलंका 2 करोड़ रुपये

इस बार सभी 8 टीमों के पास कुल 73 जगह ही खाली हैं. पिछले 12 सीजन में देखा गया कि कई खिलाड़ियों को अधिक बेस प्राइज रखने के कारण उन्हें खरीददार नहीं मिले. ऐसे में आगामी नीलामी में भी देखना दिलचस्प होगा कि किसकी बोली लगती है और किसकी झोली खाली रहती है.