दुबई में खेले गए 2018 एशिया कप के दौरान डेब्यू करने वाले तेज गेंदबाद खलील अहमद (Khaleel Ahmed) एक बार फिर इस शहर में क्रिकेट खेलने को लेकर काफी उत्साहित हैं। खलील 19 सितंबर से यूएई में शुरू होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2020) के 13वें सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) टीम के लिए खेलेंगे।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में अहमद ने कहा, “मुझे यहां की स्थिति के बारे में अंदाजा है और अगर तेज गेंदबाजों को बल्लेबाजों की मददगार इन पिचों पर हावी होना है तो उन्हें स्मार्ट होना होगा, जिससे तेज गेंदबाजों के लिए चीजें और मुश्किल हो जाएंगी।”

अहमद ने कहा, “सभी तेज़ गेंदबाज़ों को बल्लेबाज़ों को फ़ॉक्स करने के लिए ‘ग्रे मैटर’ का भरपूर इस्तेमाल करना होगा। देखते हैं कि क्या होता है लेकिन मैं चुनौती के लिए तैयार हूं।”

खलील जयपुर से शुक्रवार को मुंबई पहुंचे हैं। जहां से हैदराबाद टीम 23 अगस्त को दुबई रवाना होगी। किंग्स इलेवन पंजाब, कोलकाता नाइट राइडर्स, राजस्थान रॉयल्स, चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस टीम पहले ही दुबई पहुंच चुकी हैं।

भारत के लिए 11 वनडे और 14 टी20 मैच खेल चुके खलील का कहना है कि यूएई की पिचें सीमित ओवर फॉर्मेट के लिए ज्यादा मददगार हैं। उन्होंने कहा, “सपाट पिचें, छोटी बाउंड्री, फ़ील्ड प्रतिबंध, बल्ले का आयाम और नियमों की वजह से खेल बल्लेबाज के पक्ष में जाता है। और टी20 वैसे ही तेज गेंदबाजों के लिए मुश्किल फॉर्मेट है लेकिन इसके सकारात्मक पक्ष भी हैं। ये गेंदबाजों को प्रभावी बनने की कोशिश में बदलाव करने के लिए प्रेरित करता है।”

इस तेज गेंदबाज का कहना है कि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन उन्हें भारतीय टीम में वापसी करने में मदद करेगा। उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि ये मुमकिन है कि अगर आप आईपीएल में अच्छा करते हैं तो आपको टीम इंडिया में वापसी का मौका मिल सकता है। यहां आप अंतरराष्ट्रीय स्तर के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने का मौका मिलता है।”

उन्होंने आगे कहा, “ये उतना आसान नहीं है जितना लगता है, अगर कोई युवा खिलाड़ी आईपीएल में दबाव भरे हालातों में प्रदर्शन करता है तो वो प्रभाव छोड़ता है। इसलिए, मुझे लगता है कि हैदराबाद के लिए खेलने का ये मौका मेरे लिए अहम है।”