डेथ ओवर्स में इस बार RCB नहीं होगी फेल, कोच साइमन कैटिच ने बनाया मास्‍टर प्‍लान
Simon Katich @ Twitter

अपने पहले आईपीएल खिताब की कोशिश में जुटी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (RCB) के नये कोचिंग स्टाफ माइक हेसन (Mike Hesson) और साइमन कैटिच (Simon Katich) मानते हैं कि सभी विभागों पर ध्यान दिया गया है जिसमें ‘डेथ ओवरों’ में गेंदबाजी भी शामिल है।

दुबई में छह दिन के क्‍वारेंटाइन को खत्म करने के करीब रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के क्रिकेट निदेशक हेसन और मुख्य कोच कैटिच ने वेबिनार में अपनी टीम की योजनाओं के बारे में बात की जो तीन बार आईपीएल फाइनल में पहुंची लेकिन फाइनल की बाधा को पार नहीं कर सकी।

MI ने सर्वाधिक 4 बार जीता खिताब, ये है 2008 से आजतक के विजेताओं की पूरी लिस्‍ट

वेबिनार के दौरान दोनों को लगता है कि धीरे धीरे ट्रेनिंग को बढ़ाना ही आगे बढ़ने के लिये सर्वश्रेष्ठ तरीका होगा क्योंकि ज्यादातर खिलाड़ी छह महीने के ब्रेक के बाद वापसी कर रहे हैं, इससे वे आईपीएल जैसे लंबे टूर्नामेंट के लिये शारीरिक और मानसिक रूप से तैयार होंगे जो संयुक्त अरब अमीरात की गर्मी में खेला जायेगा।

कप्तान विराट कोहली की अगुआई वाली टीम हमेशा स्टार खिलाड़ियों से भरी रही है लेकिन अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन नहीं दिखा सकी। पहली बार टीम 2016 में फाइनल में पहुंची थी और तब से उसके लिये तीन फाइनल ऐसे रहे हैं जिसे टीम भुलाना चाहेगी।

सीनियर खिलाड़ी युजवेंद्र चहल ने हाल में इंटरव्यू में कहा था कि टीम ने अपने 30 प्रतिशत मैच पिछले तीन सत्र में अपनी ‘डेथ ओवर’ की गेंदबाजी के कारण गंवाये। हालांकि हेसन का मानना है कि क्रिस मौरिस, इसुरू उडाना, केन रिचर्डसन और डेल स्टेन के साथ करार के बाद इस मुद्दे को निपटा लिया गया है।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई ओपनर क्रिस रोजर्स बने विक्टोरिया के मुख्य कोच

हेसन ने वर्चुअल मीडिया बातचीत में कहा, ‘‘हम अपनी ‘डेथ बॉलिंग’ के बारे में काफी स्पष्ट थे और सुनिश्चित करना चाहते थे कि इससे निपटा जाये। हम नीलामी में इसका हल निकालने के लिये गये थे। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पास उडाना, मौरिस, रिचर्डसन, स्टेन हैं। नवदीप सैनी ने अच्छा काम किया है और हमारे स्पिनर भी बड़ी भूमिका अदा करेंगे। हमारे पास चहल हैं जो बेहतरीन गेंदबाज हैं और हमारे पास स्पिनरों (शाहबाज नदीम, पवन नेगी, मोइन अली) का शानदार मिश्रण है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमें लगता है कि हम अपनी बल्लेबाजी पर भी ज्यादा निर्भर नहीं हैं और हमारे पास संतुलित इकाई है। ’’

बल्लेबाजी में उनके लिये दिसंबर की नीलामी में खरीदे गये आस्ट्रेलिया के सीमित ओवर टीम के कप्तान आरोन फिंच हैं। कैटिच ने कहा कि फिंच की मौजूदगी से कोहली को मदद मिलेगी जिनके पास एबी डिविलियर्स और स्टेन जैसे खिलाड़ी भी मदद के लिये मौजूद हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हम ऐसे खिलाड़ियों की तलाश में थे जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में अपने खेल के शिखर पर हों। फिंच इस सूची में सबसे ऊपर थे। बतौर खिलाड़ी और कप्तान, उसने आस्ट्रेलिया के लिये शानदार प्रदर्शन किया है। वह स्पिन को अच्छी तरह खेलता है और उसकी नेतृत्व क्षमता भी फायदेमंद होगी। ’’