इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) में एक बार फिर अंतिम पड़ाव पर मैच का पासा पलट गया. मुंबई के वानखेड़े मैदान पर दिल्ली कैपिटल्स (DC) के खिलाफ 148 रन के साधारण से लक्ष्य का पीछा कर रही राजस्थान रॉयल्स (RR) शुरुआत में ही लड़खड़ा गई थी. लेकिन पारी के दूसरे हाफ में उसे पहले (David Miller) डेविड मिलर (62) और फिर (Chris Morris) क्रिस मॉरिस (36*) के जज्बे ने इस सीजन की पहली जीत दिला दी. राजस्थान के टॉप 5 बल्लेबाज सिर्फ 42 रन पर ही पवेलियन लौट गए थे लेकिन मैच यहीं खत्म नहीं हुआ था. ये हैं राजस्थान रॉयल्स की जीत के 5 कारण.

डेविड मिलर ने खेली जानदार पारी

राजस्थान रॉयल्स की टीम ने अपनी बढ़िया गेंदबाजी के दम पर दिल्ली की टीम को 147 रन पर ही रोक दिया था. लेकिन 148 का लक्ष्य उसके लिए बहुत मुश्किल हो गया. दिल्ली के तेज गेंदबाज क्रिस मॉरिस कगिसो रबाडा और आवेश खान ने मिलकर राजस्थान रॉयल्स के टॉप ऑर्डर को बुरी तरह चरमरा दिया. 17 रन पर दिल्ली अपने 3 विकेट गंवा चुकी थी. यहां डेविड मिलर एक छोर को संभाल रहे थे लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरने का सिलसिला फिर भी नहीं थमा. बाद में डेविड मिलर ने छठे विकेट के लिए राहुल तेवतिया के साथ मिलकर 48 रन की साझेदारी की. उनकी अपनी सूझ-बूझ भरी पारी से इस मैच को बना तो दिया लेकिन उसे खत्म नहीं कर पाए. मिलर ने 43 बॉल में 7 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 62 रन बनाए.

क्रिस मॉरिस ने साबित की अपनी कीमत, दिलाई जीत

क्रिस मॉरिस इसी सीजन आईपीएल के इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी (16.25 करोड़) बने हैं. आज उनकी टीम मुश्किल में थी तो सभी की निगाहें उन पर थीं कि आखिर रॉयल्स ने उन पर इतनी कीमत क्यों खर्च की है, जिस मुकाम पर वॉर्नर इस मैच को छोड़कर गए थे वहां से मैच जीतना मुश्किल था लेकिन नामुमकिन नहीं. मॉरिस ने खुद को साबित करने में कोई कमी नहीं छोड़ी. अंत में जब रॉयल्स को जीत के लिए 2 ओवर में 27 रन की दरकार थी, तब मॉरिस ने पहले रबाडा को 2 छक्के जमाए और फिर टॉम करन की पहली 4 बॉल में एक डबल और दो छक्के लगाकर इस मैच का बेहतरीन अंत कर दिया. उन्होंने 18 गेंदों की अपनी पारी में 4 छक्कों की मदद से ये 36 रन बनाए.

आज रॉयल्स ने दिखाई बेहतरीन फील्डिंग

वैसे तो इस मैच में दोनों ही टीमों की फील्डिंग और कैचिंग जबरदस्त थी और इसी कारण यह मैच रोमांचक भी रहा. लेकिन राजस्थान रॉयल्स की टीम की यहां खास तारीफ करनी होगी. इस मैच में उनकी मैदानी फील्डिंग के साथ कैचिंग भी जबरदस्त थी. उसने आज कैच का कोई भी मौका नहीं गंवाया. रॉयल्स की टीम ने शुरुआत से ही बॉल पर नजरें बनाए रखीं और मैच में कुल 5 कैच पकड़े और दो रन आउट भी किए.

रियान पराग का रनआउट रहा खास

दिल्ली कैपिटल्स के लिए रिषभ पंत उम्दा अंदाज में रन बरसा रहे थे. वह 32 बॉल में 51 रन जड़ चुके थे और दबाब में घिरी दिल्ली को बड़े स्कोर की ओर ले जाने की जबरदस्त कोशिश कर रहे थे. इस बीच रियान पराग ने अपनी बॉल पर उन्हें रन आउट करने का बेहतरीन मौका बनाया. पंत जब एक मौके पर मुश्किल सिंगल के लिए दौड़ पड़े तो पराग ने फुर्ती दिखाते हुए बॉल की ओर दौड़ लगाई और तेजी से बॉल को बॉलिंग वाले छोर सीधे स्टंप्स में दे मारा. पंत को यहां रन आउट होकर लौटना पड़ा, जिससे दिल्ली के टोटल स्कोर में नुकसान हुआ.

जयदेव उनादकट की बेहतरीन बॉलिंग

सीनियर गेंदबाज जयदेव उनादकट के लिए यह मैच किसी कमबैक मैच की ही तरह था. उनका पिछला सीजन बेहद निराशाजनक रहा था. लेकिन इस मैच में उन्होंने शुरुआत से ही बेहतरीन बॉलिंग की. उन्होंने अपने पहले 3 ओवर में दिल्ली के टॉप 3 बल्लेबाजों को पवेलियन भेजकर उसे दबाव में ला दिया. उनादकट के ये तीनों ही विकेट पावरप्ले में आए. उन्होंने 4 ओवर में 15 रन देकर शिखर, पृथ्वी शॉ और अजिंक्य रहाणे के रूप में 3 बड़े विकेट अपने नाम किए. इसके चलते दिल्ली बड़ा स्कोर नहीं बना पाई.