इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2022) का 15वां सीजन शुरू होने से पहले सलामी बल्लेबाज रुतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) के फिटनेस टेस्ट पास करने चेन्नई सुपर किंग्स को बड़ी राहत मिली है. हालांकि टीम के स्टार ऑलराउंडर दीपक चाहर (Deepak Chahar) की फिटनेस अब भी महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) टीम की टीम के लिए चिंता का कारण बनी हुई है. हालांकि चेन्नई के स्क्वाड में ऐसा खिलाड़ी मौजूद है जो चाहर की कमी पूरी कर सकता है.

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर इरफान पठान (Irfan Pathan) का कहना है कि सीएसके टीम के राजवर्धन हंगरगेकर (Rajvardhan Hangargekar) एक “शानदार युवा प्रतिभा” हैं जो चाहर की वापसी तक उनकी जगह लेने की क्षमता रखते हैं.

अंडर-19 विश्व कप 2022 में तेज सीम-गेंदबाजी के साथ और निचले क्रम के शानदार बल्लेबाजी से प्रभावित करने वाले हंगरगेकर को सीएस के ने पिछले महीने बैंगलोर में मेगा नीलामी में 1.5 करोड़ रुपए में खरीदा.

स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘गेम प्लान’ को लेते हुए, पठान ने हंगरगेकर की क्षमता की सराहना की और माना कि अगर वो किसी दूसरी फ्रेंचाइजी में होता तो उसे लेकर चिंता होती, लेकिन सीएसके में उसका मार्गदर्शन करने के लिए एमएस धोनी जैसे कप्तान हैं.

उन्होंने कहा, “शार्दुल ठाकुर भी नहीं हैं इसलिए आपको ये सुनिश्चित करने की जरूरत है कि आपको एक विकल्प मिल जाए. उनके पास एक खिलाड़ी है जो युवा है – हैंगरगेकर. आप जानते हैं कि वो एक शानदार युवा प्रतिभा है.”

पठान ने कहा, “अगर कोई युवा खिलाड़ी दूसरी टीम में आता है तो मैं थोड़ा और चिंतित हो सकता हूं लेकिन उनके पास एमएस धोनी हैं, उनका कप्तान स्टंप के पीछे है और इससे युवा खिलाड़ियों के लिए चीजें बहुत आसान हो जाती हैं. इसलिए मुझे लगता है कि उन्हें लगभग किसी तरह का विकल्प मिल गया है.”

चाहर को इस महीने की शुरुआत में कोलकाता में वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टी20 मैच के दौरान दाएं हाथ में चोट लगी थी, जिसके बाद उनके आईपीएल टूर्नामेंट से बाहर होने की संभावना है. हालांकि, पठान को लगता है कि चाहर की वापसी तक सीएसके को हैंगरगेकर पर निर्भर रहना होगा और इस युवा खिलाड़ी का समर्थन करना होगा.

उन्होंने कहा, “जाहिर है कि दीपक चाहर के लिए, ऐसा गेंदबाज ढूंढना आसान नहीं है क्योंकि जिस तरह का उनका कौशल है- गेंद को स्विंग करना और जल्दी विकेट लेना. जैसे ही वो फिट हो जाता है वो प्लेइंग इलेवन में आ जाएगा लेकिन तब तक उन्हें हैंगरगेकर पर निर्भर रहना होगा. मुझे लगता है कि वो ऐसा खिलाड़ी होगा जो वास्तव में बहुत अधिक क्षमता के साथ आया है.”