IPL Auction: Manoj Tiwary can not digest the fact that he won’t be part of next IPL
Manoj Tiwary @ Kings XI Punjab

मौजूदा रणजी ट्रॉफी में अबतक नाबाद दोहरा शतक और एक अर्धशतक लगा चुके मनोज तिवारी पर आईपीएल नीलामी के दौरान मंगलवार को किसी फ्रेंचाइजी ने दांव नहीं लगाया। आईपीएल नीलामी के बाद मनोज तिवारी ने ट्विटर पर अपनी भड़ास निकाली।

पढ़ें: महिला टीम का कोच बनने की रेस में कर्स्टन और गिब्स सबसे आगे

मनोज तिवारी ने मंगलवार रात को लिखा, “मैं सोच रहा था कि मेरी तरफ से क्‍या गलत हुआ। शतक लगाने पर मुझे मैन ऑफ द मैच दिया गया, जिसके बाद अगले 14 मैचों के लिए मुझे भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया। मैं आईपीएल 2017 के दौरान मुझे मिले अवॉर्ड को देखकर सोच रहा हूं कि आखिरी मेरे साथ क्‍या गलत घटा।”

आईपीएल 2018 में किंग्‍स इलेवन पंजाब ने मनोज तिवारी को एक करोड़ रुपये में खरीदा था। पांच मैचों में उन्‍हें खेलने का मौका मिला। हालांकि इस दौरान वो केवल 47 रन ही बना पाए।

मनोज तिवारी ने बुधवार सुबह एक और ट्वीट किया। इस ट्वीट में उन्‍होंने लिखो, “मेरे आखिरी ट्वीट के बाद मुझे काफी रिएक्‍शन मिले। आप लोगों ने मुझे काफी प्‍यार दिया है। मैं अभी भी ये बात हजम नहीं कर पा रहा हूं कि मैं आईपीएल 2019 का हिस्‍सा नहीं हूं, लेकिन ये सच्‍चाई है, जिसका सामना मुझे करना होगा। मुझे केवल उन चीजों पर फोकस करना होगा जो मेरे नियंत्रण में है। मैं अपने प्‍वाइंट ऑफ व्‍यू से पीछे नहीं हटूंगा। इस बात के लिए जिसने भी मेरी आलोचना की है मैं उनसे कहना चाहता हूं कि आप खुद को मेरी जगह रखकर देखो। जिस तरह की चीजों से मैं गुजरा हूं मुझे नहीं लगता कि किसी और के साथ ऐसा हुआ होगा।”