केविन पीटरसन इंग्लैंड टीम के कप्तान रह चुके हैं © Getty Images
केविन पीटरसन इंग्लैंड टीम के कप्तान रह चुके हैं © Getty Images

इंग्लैंड क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने खुलासा किया है कि इंग्लैंड में उनका करियर पूरी तरह खत्म हो गया है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए अपने फैंस के साथ ये बात शेयर की। पीटरसन को नेटवेस्ट टी20 ब्लॉस्ट में सर्रे टीम में खेलने का मौका मिला था लेकिन केवल दो मैच खेलने के बाद वह चोट के कारण टीम से बाहर हो गए। शुक्रवार को उनकी टीम सर्रे क्वार्टर फाइनल में बर्मिंघम बियर्स के खिलाफ हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई और इसी के साथ इंग्लैंड में पीटरसन का आखिरी क्रिकेट सीजन भी खत्म हो गया।

37 साल के केपी ने अपने करियर मे कुल 104 टेस्ट, 136 वनडे और 37 टी20 मैच खेले हैं। उनके नाम 13,797 अंतर्राष्ट्रीय रन हैं। इंग्लैंड की राष्ट्रीय टीम से बाहर होने के बाद पीटरसन ने बीबीएल आईपीएल और सीपीएल जैसे टूर्नामेंट के जरिए अपना खेल जारी रखा। साउथ अफ्रीका में पैदा हुए पीटरसन ने हाल ही में दिए एक बयान में कहा था कि वह इंग्लिश बनने की पूरी कोशिश करते रहे लेकिन असल में वह साउथ अफ्रीकन ही हैं। पीटरसन ने कहा कि वह जब तक इंग्लैंड टीम में थे गर्व के साथ इंग्लैंड की जर्सी पहनकर खेले और केवल जीतने के लिए खेले। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम श्रीलंका, तीसरे वनडे से पहले महेंद्र सिंह धोनी ने किया जमकर अभ्यास]

उन्होंने ये भी खुलासा किया था कि जब भी कोई उन्हें साउथ अफ्रीकन कहता था तो वह नाराज हो जाते थे लेकिन अब उन्होंने अपने व्यक्तित्व को अपना लिया है। इंग्लैंड में भले ही पीटरसन का करियर खत्म हो गया हो लेकिन उनके फैंस उन्हें दूसरे देशों में होने वाले टूर्नामेंट में खेलते देख सकेंगे।