Lungi Ngidi: It would be a dream come true to win World Cup and bring it back to South African soil
लुंगीसानी नगिडी (AFP)

युवा दक्षिण अफ्रीकी तेज गेंदबाज लुंगी एनगिडी अपना पहला वनडे विश्व कप खेलने को लेकर उत्साहित है। फाफ डु प्लेसिस की कप्तानी में प्रोटियाज टीम इस बार टूर्नामेंट में ‘फेवरेट’ के तमगे के साथ नहीं उतर रही है। हालांकि आज तक एक भी विश्व कप खिताब नहीं जीत सकी दक्षिण अफ्रीकी टीम के लिए ट्रॉफी जीतना सपना सच होने जैसा होगा, ऐसा कहना है युवा खिलाड़ी एनगिडी का।

23 साल के तेज गेंदबाज ने कहा, “जब से मैंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का सफर शुरू किया है, ये ऐसी चीज है जिस पर मेरा ध्यान हमेशा गया है, और मैं स्क्वाड में शामिल होने की कोशिश कर रहा था और अब मैं यहां हूं, और यहां से वापसी की कोई गुंजाइश नहीं है। कुछ और नहीं बस उत्साह है और अगर हम विश्व कप जीतकर उसे दक्षिण अफ्रीकी धरती पर वापस लाने में कामयाब होते हैं तो ये सपना सच होने जैसा होगा।”

विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका के पहले तीन मैच क्रमश इंग्लैंड, बांग्लादेश और भारत के साथ हैं। एनगिडी टीम इंडिया के खिलाफ मैच खेलने को लेकर सबसे ज्यादा उत्साहित हैं। उन्होंने कहा, “मैं इंडिया के खिलाफ खेलने का इंतजार कर रहा हूं। जब वो यहां (दक्षिण अफ्रीका) आए थे, उन्होंने हमारे खिलाफ अच्छी सीरीज खेली थी। इसलिए मेरे दिमाग में हमारा उन पर उधार है। मेरे लिए ये बेहद रोमांचक मैच होगा। मुझे यकीन है कि बाकियों के लिए भी ये दिलचस्प होगा।”

पहली मल्टीनेशन ट्रॉफी जीतने पर बोले मुर्तजा- इस प्रदर्शन को जारी रखना चाहेंगे

एनगिडी ने आगे कहा, “वो एक अच्छी टीम है, ये उनके कोई नहीं छीन सकता लेकिन जब उन्होंने हमारे खिलाफ अच्छी सीरीज खेली थी तो हमारे कई खिलाड़ी नदारद थे। अब जबकि वो लौट आए हैं, मुझे लगता है कि मुकाबला बराबरी का हो गया है।”

मेजबान इंग्लैंड जिन्हें की खिताबी का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा है, के खिलाफ मैच के साथ दक्षिण अफ्रीका टूर्नामेंट की शुरुआत करेगी। जाहिर है कि वो पहला मैच जीतकर सकरात्मक शुरुआत करना चाहेंगे। इस बारे में एनगिडी ने कहा, “हमें अच्छी तरह से पता है कि वो हमसे कहीं ज्यादा दबाव में हैं, वो मेजबान है, उन्हें फेवरेट माना जा रहा है और ये हमारे लिए फायदेमंद है। जाहिर है हम जीतना चाहते हैं और अगर हम जीतते हैं तो ये एक मजबूत संदेश भेजेगा और अगर नहीं जीतते हैं तो हम टूर्नामेंट से बाहर नहीं हो जाएंगे।”