विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे की बल्लेबाजी पहले दिन के खेल का आकर्षण रही © Getty Images(file photo)
विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे की बल्लेबाजी पहले दिन के खेल का आकर्षण रही © Getty Images(file photo)

भारत और न्यूजीलैंड के बीच इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे की शानदार पारियों की बदौलत मेजबान टीम ने बड़े स्कोर की ओर कदम बढ़ा दिये हैं। पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम 3 विकेट पर 267 रन बना चुकी है। भारत के लिए विराट कोहली 103 रन और अजिंक्य रहाणे 79 रन बनाकर खेल रहे हैं। भारतीय टीम सीरीज के पहले दो टेस्ट मैच जीत कर पहले ही 2-0 की बढ़त बना चुकी है। तीसरे टेस्ट में पहले दिन का खेल कप्तान कोहली और रहाणे के नाम रहा। दोनों ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है।

इससे पहले भारत और न्यूजीलैंड की टीमें इंदौर में खेले गए पहले टेस्ट मैच की गवाह बनी। टॉस जीतकर कोहली ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। दोनों टीमों ने अपनी टीम में 2-2 बदलाव किये। भारत ने अंतिम एकादश में शिखर धवन की जगह गौतम गंभीर और भुवनेश्वर कुमार की जगह उमेश यादव को मौका दिया तो न्यूजीलैंड ने हेनरी निकोल्स की जगह केन विलियमसन और नील वैगरन की जगह जिमी नीशम को शामिल किया। भारत की शुरूआत अच्छी नहीं रही और सलामी बल्लेबाज मुरली विजय सिर्फ 10 रन बनाकर जीतन पटेल का शिकार बन गए। 2 साल बाद टीम में वापसी करने वाले गौतम गंभीर ने आक्रामक शुरूआत की और कुछ शानदार स्ट्रोक्स खेले। पारी के चौथे ओवर में उन्होंने न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज मैट हेनरी की दो लगातार शार्ट पिच गेंदों को पुल करके छक्के लगाए, लेकिन वो इस सिलसिले को ज्यादा देर तक जारी नहीं रख पाए और 29 के निजी स्कोर पर ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर एलबीडब्लू हो गए। इसके बाद चेतेश्वर पुजारा और कप्तान कोहली ने संभल कर खेलते हुए भारत को लंच तक कोई नुकसान नहीं होने दिया। [Also Read: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने की विराट कोहली की तारीफ]

लंच के बाद पुजारा और कोहली ने रन बनाने का सिलसिला शुरू किया और धीरे-धीरे स्कोरबोर्ड को बढ़ाते रहे। दोनों विकेट पर जम चुके थे और बड़ी साझेदारी की ओर बढ़ते दिख रहे थे कि सैंटनर ने एक बेहतरीन गेंद पर पुजारा को बोल्ड कर भारत को तीसरा झटका दे दिया। पुजारा ने 41 रनों का योगदान दिया। आउट होने से पहले उन्होंने कोहली के साथ तीसरे विकेट के लिए 40 रनों की साझेदारी निभाई। पुजारा के जानें के बाद कोहली को उपकप्तान रहाणे का साथ मिला। रहाणे ने विकेट पर आते ही दूसरा रन लेकर अपने करियर में 2,000 रन पूरे किये और फिर नजरे जमाने के बाद अपने अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए मैदान के चारों ओर स्ट्रोक्स लगाए। दोनों ने चायकाल तक भारत को कोई और झटका नहीं लगने दिया और 148 के स्कोर तक पहुंचा। [Also Read: अजिंक्य रहाणे ने टेस्ट क्रिकेट में 2,000 रन पूरे किये]

लंच के बाद दोनों बल्लेबाजों ने रन बनाने के सिलसिले को आगे बढ़ाया। इस दौरान दोनों बल्लेबाज थोड़े लकी भी साबित हुए। दोनों को बल्लेबाजों को किवी फील्डरों ने मौके दिये और इसका फायदा उठाते हुए कोहली और रहाणे की जोड़ी ने भारत का स्कोर 200 के पार पहुंचाया साथ ही 100 रनों की साझेदारी भी पूरी की। चायकाल के बाद पहले कोहली ने अर्धशतक पूरा किया तो कुछ देर बाद रहाणे ने भी पचास के स्कोर को पार किया। अर्धशतक पूरा करने के बाद दोनों बल्लेबाजों ने गियर बदलते हुए तेजी से रन बनाना शुरू किया। इस टेस्ट में कोहली ने अपने शतकों के सूखे को खत्म करते हुए करियर का 13वां शतक बनाया। यह विराट का कप्तान के तौर पर भारतीय सरजमी पर पहला शतक भी है। वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में दोहरा शतक जमाने के बाद कोहली एक भी शतकीय पारी खेलने में नाकाम रहे थे। [Also Read: भारत बनाम न्यूजीलैंड, तीसरा टेस्ट, फुल स्कोरकार्ड]

दिन का खेल खत्म होने तक कोहली 103 रन और रहाणे 79 रन बनाकर विकेट पर टिके हुए हैं। कोहली और रहाणे ने चौथे विकेट के लिए विकेट के लिए 167 रनों की साझेदारी निभाई। न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने भी अच्छी गेंदबाजी की लेकिन विकेट के मामले में ज्यादा लकी नहीं रहे और पूरे दिन के खेल में 3 विकेट ही चटका सके। न्यूजीलैंड के लिए बोल्ट, पटेल और सैंटनर तीनों ने 1-1 विकेट चटकाए। अब भारतीय टीम का लक्ष्य दूसरे दिन ज्यादा से ज्यादा रन बनाकर किवी टीम पर दबाव बनाने का प्रयास करेगी।