Mohammed Shami fails to appear before Kolkata court despite order
After a strong start to his India career, Shami hit a few roadblocks. © PTI

तेज गेंदबाज मोहम्‍मद शमी ने इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में अच्‍छा प्रदर्शन किया। उन्‍होंने पांच टेस्‍ट मैचों की नौ परियों में विरोधी टीम के 16 विकेट निकाले। हालांकि टीम इंडिया को मेजबान टीम से 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। शमी भारतीय वनडे टीम का हिस्‍सा नहीं हैं। जिसके कारण उन्‍हें एशिया कप 2018 में जगह नहीं दी गई है। वो

पत्‍नी के साथ मोहम्‍मद शमी का घरेलू हिंसा काे लेकर मामला अदालत के समक्ष विचाराधीन है। शमी द्वारा हर महीने घर खर्च के लिए दी जाने वाली रकम का चैक बाउंस होने पर हसीन जहां ने अदालत का दरवाजा खटखटाया है। कोलकाता में अलीपुर की सीजेएम कोर्ट के समक्ष शमी को 20 सितंबर को पेश होना था, लेकिन वो अदालत में नहीं पहुंचे।

अदालत के समक्ष शमी के वकील ने कहा कि वो निजी कारणों से पेश नहीं हो पाए हैं। अदालत ने शमी के इस रुख पर नाराजगी जाहिर की। जी न्‍यूज की खबर के मुताबिक अदालत ने अब मोहम्‍मद शमी को 14 नवंबर को अगली सुनवाई के दौरान पेश होने के आदेश दिए हैं। अदालत ने ये भी कहा है कि अगर वो अगली तारीख पर पेश नहीं हुए तो उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया जा सकता है।

मोहम्‍मद शमी की पत्‍नी हसीन जहां ने उनपर घरेलू हिंसा से लेकर मैच फिक्सिंग में शामिल होने तक के आरोप लगाए थे। फिक्सिंग के आरोपों पर प्राथमिक जांच के बाद बीसीसीआई ने मोहम्‍मद शमी को आईपीएल 2018 में खेलने की इजाजत दे दी थी। शमी और हसीन जहां की शादी साल 2014 में हुई थी।