एमएस धोनी © AFP
एमएस धोनी © AFP

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और कॉमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने मिड-डे में लिखे अपने कॉलम में बैटिंग ऑर्डर में एमएस धोनी को नीचे खिलाए जाने और टीम के लिए उनके योगदान पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा, “जैसा कि टीम एमएस धोनी के सीमित ओवरों की क्रिकेट में योगदान को लेकर काफी मुखर रही है, वहीं भारतीय स्पिनरों के विकास में उनके योगदान को भी भुलाया नहीं जा सकता। लेकिन इसके साथ ही उनकी बैटिंग पोजीशन को लेकर भी कुछ चीजें स्वीकारनी होंगी। वनडे क्रिकेट में नंबर 7 पर उन्हें खिलाना दिलचस्प निर्णय था लेकिन यही चीज टी20 क्रिकेट में करने से उनकी टीम में उपयोगिता पर सवाल खड़े कर दिए हैं।”

उन्होंने आगे लिखा है, “राजकोट में उनकी पारी और साल 2017 में उनके द्वारा बनाए गए रन ये बताते हैं कि उन्हें रन बनाने के लिए थोड़े समय की जरूरत होती है और उन्हें निचले क्रम में खिलाने से वह वो नहीं कर पाए रहे जो वह पहले करते थे। आठ ओवरों के मैच में उन्हें अय्यर, पांड्या और पांडे के बाद भेजना फिर से सवाल खड़े करता है, क्योंकि इसे ये समझा जाएगा कि उन्हें पहली ही गेंद से बड़े स्ट्रोक मारने के लायक अब नहीं माना जाता।”

23 नवंबर को शादी करेंगे भुवनेश्वर कुमार: रिपोर्ट्स
23 नवंबर को शादी करेंगे भुवनेश्वर कुमार: रिपोर्ट्स

दिलचस्प बात ये है कि आकाश चोपड़ा को पिछले दिनों धोनी के ऊपर उनके बयान को लेकर फैंस से खरी खोटी सुननी पड़ी थी। एमएस धोनी के करियर को लेकर तब सवाल उठने शुरू हो गए थे जब वह न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टी20 में धीमी स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करते नजर आए थे और टीम इंडिया को मैच गंवाना पड़ा था। आकाश चोपड़ा समेत कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स ने तक कहा था कि धोनी को सीमित ओवर क्रिकेट से संन्यास ले लेना चाहिए।