MS Dhoni spotting me during Pune Supergiants’ practice matches in 2016 was the turning point, says Deepak Chahar
दीपक चाहर © AFP

पिछले साल भारत के लिए टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने वाले तेज गेंदबाज दीपक चाहर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आगामी सीरीज के लिए टी20 स्क्वाड में जगह मिली है। चोट और दूसरी कई वजहों से चाहर के करियर की शुरुआत बेहद मुश्किल रही है। 2010 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लेने के बावजूद उन्हें टीम इंडिया में मौका नहीं मिला। चाहर की किस्मत तब पलटी जब पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की नजर उन पर पड़ी।

राजस्थान के इस तेज गेंदबाज का मानना है कि जब धोनी ने उन्हें आईपीएल टीम राइजिंग पुणे सुपरजायंट के लिए अभ्यास करते देखा था, वही उनके करियर प्वाइंट था। क्रिकबज को दिए इंटरव्यू में भारतीय पेसर ने कहा, “टर्निंग प्वाइंट वो था जब माही भाई ने 2016 में मुझे सुपरजायंट के लिए अभ्यास करते देखा था और वो मेरी बल्लेबाजी से प्रभावित हुए थे। बाद में उन्होंने मुझे नेट में गेंदबाजी देखा और मैं उन्हें प्रभावित करने में सफल रहा था।”

चाहर ने आगे कहा, “वो टीम के कप्तान थे और मुझे खिलाना चाहते थे लेकिन मेरी चोट की वजह से मैंने वो मौका मिस कर दिया और अगले साल कप्तानी स्टीव स्मिथ को मिली और वो दूसरे खिलाड़ियों को प्रमोट कर रहे थे, इसलिए मुझे मौका नहीं मिला।”

रद्द हो सकता है पाकिस्तानी महिला टीम का भारत दौरा

चाहर का करियर चोटों से काफी प्रभावित रहा है। 2009-10 प्रथम श्रेणी सीजन में शानदार प्रदर्शन करने के बाद पीलिया और अंगूठे की चोट की वजह से वो 3-4 साल तक घरेलू क्रिकेट से दूर रहे। IPL 2016 में पुणे फ्रेंचाइजी के कोच स्टीफेन फ्लेमिंग ने उन्हें चुना तो वो हैमस्ट्रिंग के शिकार हो गए और उस सीजन नहीं खेल सके। हालांकि 2017 सीजन खत्म होने के बाद CSK टीम की वापसी के साथ ही चाहर का आईपीएल करियर भी पटरी पर आ गया।

इस बारे में चाहर ने कहा, “IPL 2017 के आखिरी जिन जब पुणे फाइनल में मुंबई इंडियंस से हारी तो, मैं माही भाई के पास अपने खेल में सुधार करने की सलाह लेने गया और तब उन्होंने मुझसे कहा ‘अगले साल चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलने के तैयार हो जाओ’, उसके बाद 2018 और 2019 से आईपीएल सीजन में सबकी नजर मुझ पर पड़ी।”

शानदार कमबैक के बाद मिशेल मार्श ने कहा- ज्यादातर ऑस्ट्रेलियाई फैंस मुझसे नफरत करते हैं

कप्तान धोनी ने चाहर को CSK के मुख्य गेंदबाज की भूमिका में रखा। चाहर CSK के लिए नई गेंद के साथ अटैक की शुरुआत करते हैं और डेथ ओवर भी कराते हैं। टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की गैर मौजूदगी में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में भी उन्हें यही भूमिका मिलने की उम्मीद है। जिसे लेकर दीपक उत्साहित हैं।

इस जिम्मेदारी को लेकर उन पर किसी तरह का दबाव है या नहीं, इसके जवाब चाहर ने कहा, “दबाव नहीं है। मुझे जिम्मेदारी लेना पंसद है और मैंने CSK के लिए खेलेत हुए ऐसा किया है, जहां मैंने अटैक किया और पावरप्ले में भी गेंदबाजी की। मैं कहूंगा कि मैं इस मामले में काफी अच्छा हूं।”