Mushtaq Ali T20 Trophy to be held ahead of IPL auction as BCCI announces domestic schedule
BCCI LOGO

बीसीसीआई ने घरेलू सत्र में थोड़ा बदलाव किया है जिसमें कुल 2,036 मैच खेले जाएंगे। भारत के राष्ट्रीय टी-20 टूर्नामेंट का आयोजन आईपीएल खिलाड़ियों की नीलामी से पहले कराया जाएगा।

पढ़ें: रायडू के संन्‍यास के बाद गंभीर ने MSK प्रसाद की अगुवाई वाली चयन समिति को लताड़ा

बुधवार को घोषित 2019-20 घरेलू कार्यक्रम में हुए बदलाव में देश के मुख्य घरेलू टी-20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी को थोड़ा आगे कर दिया गया है।

टूर्नामेंट 8 नवंबर से 1 दिसंबर तक आयोजित होगा जबकि पिछला सत्र फरवरी-मार्च में खेला गया था। आईपीएल नीलामी आमतौर पर दिसंबर-जनवरी में होती है। रणजी ट्रॉफी पहली बार 9 दिसंबर से शुरू होकर मार्च तक खेली जाएगी और इसका फाइनल 13 मार्च को होगा।

पढ़ें: जडेजा ने मांजरेकर से कहा- आपसे दोगुने मैच खेल चुका हूं..

प्रारूप पिछले सत्र के समान होगा जिसमें प्लेट ग्रुप से शीर्ष टीम क्वार्टरफाइनल के लिए क्वालीफाई करेगी और अगले सत्र में उसे एलीट सी ग्रुप में प्रोमोट किया जाता है।

एलीट ग्रुप सी से दो शीर्ष टीमें क्वार्टरफाइनल के लिए क्वालीफाई करती हैं और इन्हें अगले सत्र में एलीट ग्रुप ए और एलीट ग्रुप बी में प्रोमोट किया जाता है। हमेशा की तरह दलीप ट्रॉफी से सत्र की शुरूआत होगी और इसके बाद विजय हजारे 50 ओवर ट्रॉफी, देवधर ट्रॉफी, रणजी ट्रॉफी और ईरानी ट्रॉफी (18 से 22 मार्च तक) प्रतियोगिताएं खेली जाएंगी।

सीनियर महिला घरेलू सत्र टी-20 लीग से अक्टूबर से शुरू होगा। भारत की महिला टीम का लक्ष्य 21 फरवरी से आठ मार्च तक आस्ट्रेलिया में चलने वाले टी20 विश्व कप के लिए जगह बनाना होगा।

पिछले सत्र में बीसीसीआई ने 9 नई टीमों को जोड़ा था जिससे कुल मैचों की संख्या 2,017 हो गई थी। इस साल 19 मैच और बढ़ गए हैं।