अपने घर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेल रही पाकिस्तान की टीम को कोच मिस्बाह उल हक (Misbah Ul haq) ने अपने खिलाड़ियों को आत्ममुग्ध होने से चेताया है. मिस्बाह नहीं चाहते कि 2 टेस्ट की इस सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाने के बाद उनकी टीम पटरी से उतर जाए. मेजबान टीम पहले टेस्ट मैच में अपनी पहली पारी में 27 रन 4 विकेट गंवाकर बैकफुट पर थी. लेकिन मैच के दूसरे दिन उसने शानदार वापसी करते हुए मैच में आखिरकार 7 विकेट से मात देने में कामयाबी हासिल की.

सीरीज का दूसरा और अंतिम टेस्ट मैच रावलपिंडी के पिंडी क्रिकेट स्टेडियम में गुरुवार से शुरू होगा. यासिर शाह और पहला टेस्ट खेल रहे 34 साल के बाएं हाथ के स्पिनर नौमान अली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट में मिलकर 14 विकेट चटकाए. मिसबाह ने कहा, ‘इस जीत की काफी जरूरत थी.’

उन्होंने कहा, ‘टीम ने मुश्किल हालात का सामना करने के बाद वापसी की. लेकिन हम आत्ममुग्धता का शिकार नहीं होना चाहते. साउथ अफ्रीका की टीम मजबूत है और हमें पता है कि वे कड़ी वापसी कर सकते हैं.’

मिस्बाह और बॉलिंग कोच वकार यूनिस को पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने पिछले महीने न्यूजीलैंड में 0-2 से सीरीज गंवाने के बाद तलब किया था. दोनों कोचों को एक और मौका दिया गया है लेकिन उनका दीर्घकालीन भविष्य साउथ अफ्रीका के खिलाफ मौजूदा घरेलू सीरीज के नतीजे पर निर्भर करता है.

दूसरे टेस्ट से पहले मिसबाह ने कहा, ‘मेरा ध्यान इस सीरीज पर है. हम अपनी पूरी ऊर्जा इस टेस्ट में झोंक देंगे और देखेंगे कि हम कैसे जीत दर्ज कर सकते हैं. बाकी चीजों पर हमारा कंट्रोल नहीं है और इनके बारे में सोचने का कोई मतलब नहीं है.’

इनपुट : भाषा