इमाम उल हक ने डेब्यू वनडे में शतक जमा दिया © Getty Images
इमाम उल हक ने डेब्यू वनडे में शतक जमा दिया © Getty Images

पाकिस्तान को कई बार अपने बल्ले से मैच जिताने वाले पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक के भतीजे ने वनडे क्रिकेट में जबर्दस्त एंट्री की है। श्रीलंका के खिलाफ वनडे सीरीज के तीसरे मैच में इमाम-उल-हक ने अपना डेब्यू किया और उन्होंने शतक जड़ दिया। इमाम उल हक ने 125 गेंदों में 100 रनों की पारी खेली, जिसमें उन्होंने 5 चौके और दो छक्के लगाए। आपको बता दें इमाम पाकिस्तानी वनडे क्रिकेट के दूसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिसने डेब्यू मैच में ही शतक ठोक दिया। इमाम से पहले सलीम इलाही ने 1995 में श्रीलंका के खिलाफ ही अपने पहले वनडे में शतक जमाया था।

आपको बता दें इमाम उल हक अपने शतक से चूक सकते थे, लेकिन उन्हें जीवनदान मिला। दरअसल जब इमाम 89 रन पर थे तो लाहिरु गमागे की गेंद पर इमाम का कैच विकेटकीपर निरोशन डिकवेला ने पकड़ लिया। इमाम जैसे ही आउट होकर पैवेलियन लौटने लगे तो अंपायर रिचर्ड केटरब्रॉ ने देखा कि गेंद विकेटकीपर के पास पहुंचने से पहले जमीन पर लगी थी। इसके बाद इमाम को दोबारा क्रीज पर वापस बुला लिया गया। इसके बाद इमाम उल हक ने 11 रन जोड़कर अपने वनडे डेब्यू को यादगार बना लिया। इमाम की इस पारी के दम पर पाकिस्तान ने श्रीलंका को तीसरे वनडे में 7 विकेट से तो हराया ही साथ ही उसने सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त भी हासिल कर ली। पाकिस्तान ने लगातार 7वां वनडे मैच जीता है और श्रीलंका की ये वनडे में लगातार 10वीं हार है।

भारत को हराने के लिए 'भारतीय स्पिनर' हुआ न्यूजीलैंड की टीम में शामिल!
भारत को हराने के लिए 'भारतीय स्पिनर' हुआ न्यूजीलैंड की टीम में शामिल!

हसन अली भी चमके

इमाम उल हक के शतक के अलावा तेज गेंदबाज हसन अली ने भी पाकिस्तान की जीत में बड़ा योगदान दिया। हसन अली ने सिर्फ 34 रन देकर 5 विकेट लिए और वो पाकिस्तान की ओर से सबसे तेजी से 50 विकेट पूरे करने वाले गेंदबाज भी बन गए। हसन अली के इतने अच्छे प्रदर्शन के बावजूद भी इमाम उल हक को मैन ऑफ द मैच चुना गया। इसकी वजह शायद बल्लेबाजी के लिए मुश्किल पिच पर शतक ठोकना हो सकती है।