पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के सूत्रों ने कहा कि क्रिकेट बोर्ड का अनुशासनात्मक पैनल उमर अकमल (Umar Akmal) को लेकर जब जल्द ही अपना विस्तृत फैसला सुनाएगा तो उनके बैन का कुछ हिस्सा निलंबित हो सकता है।

पीसबी ने उमर पर भ्रष्ट संपर्क की जानकारी नहीं देने के लिए तीन साल का बैन लगाया है। सोमवार को लाहौर में पैनल की एक घंटे तक चली सुनवाई के बाद न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) मिरान चोहान ने यह फैसला सुनाया था। उमर स्वयं सुनवाई के लिये पहुंचे थे।

सूत्रों ने पीटीआई से कहा, ‘‘लोग तीन साल के बैन को लेकर सीधे नतीजों पर पहुंच गए लेकिन अभी विस्तृत फैसला नहीं आया है। उमर पर तीन साल का बैन लग सकता है लेकिन इसमें दो साल या ऐसा ही कुछ निलंबित बैन शामिल हो सकता है।’’

उन्होंने कहा कि इसकी पूरी संभावना है क्योंकि उमर पर भ्रष्टाचार निरोधक इकाई ने जिन नियमों के तहत आरोप तय किये उसे देखते हुए जज तीन साल के प्रतिबंध के अधिकतर हिस्से को निलंबित रख सकते हैं।