© PTI
© PTI

टीम इंडिया को अपनी फिरकी के दम पर कई मैच जिताने वाले बाएं हाथ के स्पिनर प्रज्ञान ओझा को बंगाल की रणजी टीम में ही नहीं चुना गया। भारत के लिए 24 टेस्ट जीत में 113 विकेट ले चुके प्रज्ञान ओझा को रणजी ट्रॉफी टूर्नामेंट में सर्विसेस और छत्तीसगढ़ के खिलाफ खेले जाने वाले मैचों के लिए बंगाल की टीम में जगह नहीं मिली है। बंगाल का सामना रणजी ट्रॉफी से पहले सर्विसेस से 6 से 9 अक्टूबर तक राजधानी दिल्ली के पालम मैदान पर होगा। इसके अलावा, छत्तीसगढ़ के खिलाफ बंगाल का सामना रायपुर में होगा।

दो सीजन तक बंगाल की टीम की कप्तानी करने वाले प्रज्ञान ओझा हैदराबाद में वापसी करना चाहते थे, लेकिन उन्हें बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) से एनओसी नहीं मिली। इसके बाद से ही ओझा बंगाल क्रिकेट संघ के संपर्क में ही नहीं हैं। इसका मतलब है कि ओझा इस सीजन में घरेलू क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे जिससे उनका फर्स्ट क्लास करियर खतरे में पड़ गया है। सेलेक्टर अरूप भट्टाचार्य ने कहा, ‘हमें प्रज्ञान ओझा को लेकर कुछ भी पता नहीं था। हम नहीं जानते कि ओझा ने अभ्यास किया या नहीं और वो किन हालात में हैं। हम उससे संपर्क नहीं कर पाये।’ ओझा से फोन पर संपर्क नहीं हो पा रहा है लेकिन वो ट्विटर पर सक्रिय हैं।

इस बीच, भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी रिद्धिमान साहा को बंगाल टीम में शामिल किया गया है और वो श्रीलंका के खिलाफ नवम्बर में खेली जाने वाली टेस्ट सीरीज के बाद टीम के साथ प्रैक्टिस सेशन में शामिल हो पाएंगे। बंगाल को रणजी ट्रॉफी के लिए ग्रुप-डी में सर्विसेस, गोवा, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश और पंजाब के साथ शामिल किया गया है। टीम इंडिया की ‘लड़ाई’ ने मनीष पांडे पर बनाया दबाव? बेंगलुरू वनडे से पहले दिया बड़ा बयान

बंगाल टीम : मनोज तिवारी (कप्तान), सुदीप चटर्जी (उप-कप्तान), रिद्धिमान साहा, अभिमन्यु इस्वरन, श्रीवत्स गोस्वामी, अनुस्तुप मजूमदार, अभिषेक केआर. रमन, कौशिक घोष, आमिर गनी, प्रदीप प्रमाणिक, अशोक दिंडा, सायन घोष, मुकेश कुमार, कनिष्क सेठ, बी. अमित, ऋत्तिक चटर्जी। (IANS के इनपुट के साथ)