प्रणव धनावड़े  © AFP
प्रणव धनावड़े © AFP

प्रणव धनावड़े जो स्कूल मैच में 1,009 रन बनाकर सुर्खियों मों आ गए थे एक बीर फिर से खबरों में हैं। लेकिन इस बार मामला क्रिकेट से जुड़ा नहीं, बल्कि पुलिस विवाद में शामिल होने का है। यह घटना उस सुभाष मैदान में प्रैक्टिस के दौरान घटी। दरअसल, मैदान पर हैलीपैड बना था और प्रणव उसे खाली करने के लिए कह रहे थे क्योंकि उससे उनके अभ्यास में बाधा पहुंच रही थी। दरअसल, कल्याण दौरे के लिए बीजेपी नेता और केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के लिए सुभाष मैदान पर हेलीपैड बनया गया था। और हैलीपैड की निगरानी के लिए वहां पर एक गार्ड को भी तैनात किया गया था।

जब प्रणव और उनके दोस्त अभ्यास कर रहे थे तभी गार्ड ने उनसे खेल बंद करने को कहा। बस इसी बात को लेकर प्रणव और उनके दोस्त पुलिस वालों से उलझ गए कि अगर हम मैदान पर अभ्यास नहीं कर सकते तो कहां करें। कुछ ही देर में मैदान में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी पहुंच गए और दोनों पक्षों के बीच बहस शुरू हो गई जिसके बाद ही विवाद बढ़ गया। प्रणव ने उन सुरक्षाकर्मियों से मैदान पर हैलीपैड बनाने की अनुमती के बारे में उनसे सवाल-जवाब करने लगे जिसके बाद पुलिसकर्मी प्रणव को पुलिस स्टेशन ले गए। हालांकि चेतावनी देने के बाद पुलिस ने प्रणव को छोड़ दिया।  भारत बनाम इंग्लैंड पांचवां टेस्ट: तीसरे दिन का लाइव ब्लॉग पढ़ने के लिए क्लिक करें

प्रणव को 1,009 रन बनाने के लिए मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन की तरफ से स्कॉलरशिप मिलती है। भंडारी कप में केसी हायर सेकेंड्री स्कूल के प्रणव ने 395 मिनट की बल्लेबाजी के दौरान 323 गेंदों में नाबाद 1,009 रन बनाए थे। इस दौरान उन्होंने 59 छक्के और 129 चौके जड़े थे। हालांकि इसके बाद जावड़ेकर ने रोड से जाने का तय किया और उन्होंने कहा कि मैदान पर हैलीपैड बनाने का तरीका सही नहीं है इसलिए मैंने हैलीकॉप्टर की बजाए रोड से जाने का फैसला किया।