युवा भारतीय बल्लेबाज शुभमन गिल ने बताया कि पूर्व दिग्गज राहुल द्रविड़ ने उन्हें ऐसी सलाह दी है जिसे वो हमेशा याद रखते हैं।

कोच द्रविड़ के मार्गदर्शन में अंडर-19 टीम के लिए खेल चुके गिल ने कहा, “राहुल सर अंडर-19 टीम के समय से मेरे कोच रहे हैं और इंडिया ए में भी। एक बेसिक सुझाव है जो उन्होंने मुझसे हमेशा दिमाग में रखने के लिए कहा। उन्होंने मुझसे कहा कि चाहे जो भी हो अपना स्वाभाविक खेल, जिससे तुम्हें सफलता मिली है, उसे कभी मत बदलना।”

उन्होंने आगे कहा, “द्रविड़ सर ने कहा कि अगर हमें तकनीकि तौर पर और मजबूत होना है, तो हम जो भी जरूरी बदलाव करते हैं वो हमारे बेसिल खेल के अंतर्गत ही होने चाहिए। राहुल सर ने बताया कि अगर मैं अपना खेल बदलूंगा, तो ये स्वाभाविक नहीं रहेगा और सफलता नहीं मिलेगी। जब हम सर्वश्रेष्ठ विपक्षी टीम का सामना कर रहे होते हैं तो उनका ध्यान हमेशा ही मानसिकता पर रहता है।”

रोहित या विहारी? प्लेइंग XI चुनने को लेकर मुश्किल में विराट कोहली

गिल ने पिछले महीने वेस्टइंडीज दौरे पर भारत ए के लिए खेलते हुए अपना पहले दोहरा शतक जड़ा था और प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बन गए थे। गिल अपनी इस पारी को खास मानते हैं। उन्होंने कहा, “विपक्षी टीम, पिच और मैच के हालात को देखते हुए मैं जाहिर तौर पर वेस्टइंडीज के खिलाफ अपने दोहरे शतक को लाल गेंद के क्रिकेट में अपनी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक कहूंगा।”

गिल का स्वाभाविक खेल मौजूदा कप्तान विराट कोहली से मेल खाता है। यहां तक कि उनकी कवर ड्राइव तो भारतीय कप्तान की कार्बन कॉपी लगती है। हालांकि गिल का कहना है कि ये उनका स्वभावित शॉट है। उन्होंने कहा, “मैं स्पिनरों के खिलाफ आक्रामक खेलता हूं। बचपन से ही मैने स्पिनरों को खूब खेला है। स्पिनरों की मददगार विकेट पर खेलते हुए मैंने ये स्ट्रोक खेलने में महारत हासिल की।’’

स्मिथ की इंजरी पर बोले रूट- किसी को भी ऐसे चोटिल होते नहीं देखना चाहूंगा

वेस्टइंडीज में लिस्ट ए मैचों में ‘प्लेयर आफ द सीरिज ’ रहे गिल ने कहा, ‘‘उस सीरीज से मेरा आत्मविश्वास बढ़ा। मैं इस तरह की पारियों को दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ बड़े स्कोर में बदलना चाहता हूं।’’

तमाम सुर्खियों के बावजूद गिल के पैर जमीन पर है और उसे इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसके बारे में क्या कहा जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मैदान से बाहर आने पर ही आपको पता चलता है कि आपके बारे में क्या कहा जा रहा है। मैदान पर उतरने के बाद ये सब भूल जाते हैं। आप सिर्फ मैच जीतने पर फोकस करते हैं।’’

लीड्स टेस्ट: टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करेगा इंग्लैंड, बैनक्रॉफ्ट की जगह हैरिस

कोलकाता नाइट राइडर्स द्वारा एक करोड़ 80 लाख रूपये में खरीदे गए गिल को दबाव का सामना करने का तरीका युवराज सिंह ने सिखाया। उन्होंने कहा, ‘‘युवी पाजी ने मुझे दबाव, शोहरत और सुर्खियों के बीच सामान्य बने रहने के लिए काफी सलाह दी। पंजाब टीम में मेरे सीनियर खिलाड़ी गुरकीरत सिंह मान ने काफी मदद की।’’