दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अधिक से अधिक भारतीय कोच रखने की वकालत की है. द्रविड़ ने कहा कि विदेशी कोच की तरह भारतीय प्रशिक्षक भी काबिल हैं.

मुश्किलों में घिर सकते हैं क्रिस गेल, अनुशासन से जुड़े मामले में हो सकती है कार्रवाई

टीम इंडिया की ‘दीवार’ रह चुके द्रविड़ ने बात गुरुवार को लखनउ में कही जहां इंडिया अंडर-19 और अफगानिस्तान अंडर-19 टीम के बीच यूथ वनडे टूर्नामेंट आयोजित हो रहा है.

वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने द्रविड़ के हवाले से लिखा है, ‘मुझे लगता है कि हमारे पास कुछ अच्छे प्रशिक्षक हैं. मुझे उनकी काबिलियत में पूरा विश्वास है. जिस तरह हमारे पास क्रिकेट में शानदार प्रतिभा है उसी तरह हमारे पास कोचिंग विभाग में भी अच्छी प्रतिभा है. हमें उन्हें आत्मविश्वास देने और अच्छा करने के लिए समय देने की जरूरत है. मुझे पूरा विश्वास है कि वह इसमें सफल रहेंगे.’

इंडिया अंडर-19 और इंडिया-ए के कोच के अलावा राजस्थान रॉयल्स तथा दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच रह चुके द्रविड़ ने कहा है कि जब वह आईपीएल में कोचिंग स्टाफ में भारतीय प्रशिक्षकों को नहीं देखते हैं तो उन्हें निराशा होती है.

‘IPL 2020 में बेहतर प्रदर्शन कर T20 वर्ल्ड कप के लिए दावा ठोक सकते हैं कुलदीप यादव’

उन्होंने कहा, ‘जब कई भारतीय को आईपीएल में सपोर्ट स्टाफ में मौका नहीं मिलता है तो मुझे कई बार निराशा होती है. ईमानदारी से कहूं तो आईपीएल में कई सारे भारतीय खिलाड़ी हैं, कई सारी स्थानीय जानकारी की जरूरत है. मुझे लगता है कि इससे कई टीमें फायदा उठा सकती हैं. वह भारतीय खिलाड़ियों को बेहतर तरीके से जानते हैं और उन्हें बेहतर तरीके से समझते भी हैं.’

द्रविड़ के कोच रहते इंडिया अंडर-19 टीम ने पिछले साल विश्व कप अपने नाम किया था. द्रविड़ इस समय नेशनल क्रिकेट अकादमी (एनसीए) के डायरेक्टर हैं.