×

आईपीएल की तारीफ कर बुरे फंसे रमीज राजा, पाकिस्‍तानी क्रिकेट फैन्‍स ने सुनाई खरी खोटी

आईपीएल में पाकिस्‍तानी क्रिकेटर्स के खेलने पर बैन है। ऐसे मे आईपीएल की तरीफ करने पर भड़क गए पाकिस्‍तानी फैन्‍स

रमीज राजा(फाइल फोटो) © Getty Images

पाकिस्‍तान के पूर्व बल्‍लेबाज रमीज राजा ने अपने क्रिकेटिंग करियर के दौरान टेस्‍ट और वनडे में मिलाकर 255 मैच खेले। इस दौरान उन्‍होंने साढ़े आठ हजार से ज्‍यादा रन बनाए। मौजूद समय में रमीज राजा क्रिकेट कमेंटेटर के तौर पर जाने जाते हैं। हाल ही में उन्‍होंने आईपीएल की जरा सी तारीफ क्‍या कर दी उनके ही देश में लोगों ने उन्‍हें घेर लिया। सोशल मीडिया पर उन्‍हें खूब ट्रोल किया गया।

[link-to-post url=”https://www.cricketcountry.com/hi/articles/ipl-2018-virender-sehwag-tweets-about-chris-gayle-takes-a-dig-at-royal-challengers-bangalore-703956″][/link-to-post]

रमीज राजा ने ट्विटर पर लिखा, ” रोहित की बल्‍लेबाजी को देखकर मजा आ रहा है। विराट कोहली और एबी डिविलियर्स मैदान पर श्रेष्‍ठता को लेकर लड़ रहे हैं। ये देखना बेहद शानदार है। क्रिकेट के 30 गज के दायरे में क्‍लास देखने को मिल रहा है।” रमीज राजा ने ये ट्विट 17 अप्रैल को किया था। इसके बाद से ही पाकिस्‍तानी क्रिकेट फैन्‍स ने उन्‍हें घेर लिया। उन्‍हें खूब ट्रोल किया गया। एक फैन ने लिखा, ” भारत ने हमारे खिलाड़ियों पर आईपीएल खेलने पर बैन लगा रखा है और एक हम हैं जो फिर भी भारत के ही गुण गान करते रहते हैं।” एक अन्‍य ट्विटर यूजर ने लिखा, ” पाकिस्‍तान के क्रिकेटर्स अच्‍छा खेलते हैं। वो भी तारीफ के हकदार हैं। आपको केवल भारत में ही अच्‍छे खिलाड़ी नजर आते हैं।”

रमीज राजा के समर्थन में भारत की तरफ से भी कई ट्विट आए। भारतीय क्रिकेट फैन्‍स ने उन्‍हें आईपीएल का समर्थन करने के लिए शुक्रिया कहा। बता दें कि आईपीएल की तर्ज पर ही पाकिस्‍तान ने भी पाकिस्‍तान सुपर लीग की शुरुआत की है। पाकिस्‍तान में आतंकी खतरे को देखते हुए विदेशी खिलाड़ी वहां मैच खेलने नहीं जाते, जिसके कारण पीएसएल के मैच दुबई में कराए जाते हैं।


भारत और पाकिस्‍तान के बीच खराब रिश्‍तों के कारण पाकिस्‍तानी खिलाड़ियों के आईपीएल खेलने पर बैन लगाया गया था। शुरुआती कुछ वर्षो में पाकिस्‍तान के खिलाड़ी आईपीएल में खेल चुके हैं। बैन के बावजूद कुछ समय तक पाकिस्‍तान के खिलाड़ी सपोर्ट स्‍टॉफ और कोचिंग स्‍टॉफ के रूप में भी भारतीय लीग से जुड़े रहे, लेकिन बीसीसीआई ने बाद में इसपर भी बैन लगा दिया था।

trending this week