Ranji Trophy 2017-18, Final, Delhi vs Vidarbha: Rajneesh Gurbani takes Hat-trick; Wasim Jaffer’s fifty took Vidarbha to 206/4 on Day 2
रजनी गुरुबानी रणजी फाइनल में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज बने © IANS

रणजी ट्रॉफी 2017-18 के फाइनल मैच का दूसरा दिन गेंदबाजों के नाम रहा। पहली पारी में विदर्भ के युवा तेज गेंदबाज रजनीश गुरुबानी ने हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया। गुरुबानी रणजी फाइनल मैच में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज बन गए हैं। रजनीश के छह विकेट हॉल की बदौलत दिल्ली टीम 295 पर सिमट गई। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी विदर्भ टीम को दिल्ली के आकाश सुडान और नवदीप सैनी की घातक गेंदबाजी का सामना करना पड़ा। दोनों ने मिलकर विदर्भ के तीन बड़े बल्लेबाजों को चलता किया। हालांकि अनुभवी वसीम जाफर की अर्धशतकीय पारी की मदद से विदर्भ दिन खत्म होने तक चार विकेट खोकर 206 रन बना सका।

दिन की शुरुआत दिल्ली की पारी के साथ हुई, कल की पारी को आगे बढ़ाते हुए दिल्ली के ध्रुव शोरे ने टीम का स्कोर 250 के पार पहुंचाया। दिन का पहला विकेट रजनीश ने लिया, उन्होंने 101वें ओवर की पांचवीं गेंद पर विकास मिश्रा को बोल्ड किया। अगली ही गेंद पर नवदीप सैनी भी शून्य पर बोल्ड होकर पवेलियन लौट गए। 103वें ओवर में जब रजनीश वापस आए तो पहली ही गेंद पर 145 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे ध्रुव को बोल्ड कर उन्होंने अपनी हैट्रिक पूरी की। ओवर की पांचवीं गेंद पर कुलवंत खेजरोलिया को बोल्ड कर रजनीश ने दिल्ली की पारी को 295 पर समेट दिया।

रणजी ट्रॉफी फाइनल में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज बने विदर्भ के रजनीश गुरुबानी
रणजी ट्रॉफी फाइनल में हैट्रिक लेने वाले दूसरे गेंदबाज बने विदर्भ के रजनीश गुरुबानी

रजनीश ने तो इंदौर के होल्कर स्टेडियम की पिच पर अपना कमाल दिखा दिया था, अब बारी थी दिल्ली के गेंदबाजों की। हालांकि कप्तान फैज फैजल ने संजय रामास्वामी के साथ मिलकर दिल्ली की कसी गेंदबाजी के बाद भी विदर्भ को मजबूत शुरुआत दिलाई। विदर्भ का पहला विकेट 30वें ओवर की आखिरी गेंद पर गिरा, जब संजय आकाश सुडान की गेंद को पढ़ नहीं पाए और 31 के स्कोर पर बोल्ड हो गए। तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए वसीम जाफर ने धीमी लेकिन बड़ी सूझ-बूझ के साथ बल्लेबाजी की। आकाश ने 34वें ओवर में दिल्ली को बड़ी सफलता दिलाई, ओवर की चौथी गेंद पर उन्होंने कप्तान फैज को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट कराया। सुडान के एक छोर से विकेट निकालने से दूसरे गेंदबाजों को भी मदद मिली।

44वें ओवर में नवदीप ने गणेश सतीश को आउट कर अपना पहला विकेट लिया। तीन विकेट गिरने के बाद लग रहा था जैसे दिल्ली टीम ने मैच में वापसी कर ली है लेकिन वसीम जाफर ने बड़ी समझदारी के साथ साथ धीरे-धीरे मैच का रुख अपनी तरफ मोड़ लिया। जाफर ने अपना अर्धशतक भी पूरा किया। दिन खत्म होने तक अप्रूव वानखेड़े कुलवंत खेजरोलिया के ओवर में आउट हो गए। वानखेड़े और जाफर के बीच की 73 रनों की साझेदारी भी यहीं खत्म हो गई।जाफर की 61 रनों की पारी की मदद से विदर्भ ने दिन का खेल खत्म होने तक चार विकेट खोकर 206 रन बना लिए हैं।