Ranji Trophy 2017-18: Gautam Gambhir completes 6000 runs, scores century against Bengal
गौतम गंभीर को दिल्ली रणजी टीम की कप्तान पद से हटा दिया गया है © Getty Images

टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज गौतम गंभीर ने आज रणजी ट्रॉफी 2017-18 के सेमीफाइनल मैच में बंगाल टीम के खिलाफ शानदार शतक जड़ा। इस पारी के साथ गंभीर ने रणजी क्रिकेट में अपने 6,000 रन भी पूरे किए और रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले चौथे बल्लेबाज बन गए हैं। दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी में सबसे ज्यादा 7,911 रन बनाने का रिकॉर्ड मिथुन मनहास के नाम है। दूसरे नंबर पर अजय शर्मा हैं जिन्होंने 7,421 रन बनाए हैं। 6,346 रन बनाकर रमन लांबा तीसरे स्थान पर बने हुए हैं।

पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेले जा रहे पहले सेमीफाइल मैच में गंभीर ने सलामी बल्लेबाज कुनाल चंदेला के साथ मिलकर दिल्ली टीम को धमाकेदार शुरुआत दिलाई। दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर 232 रनों की साझेदारी बनाई। चंदेला 192 गेंदों पर 113 रन बनाकर बी अमित के ओवर में कैच आउट हो गए लेकिन गंभीर अब भी क्रीज पर बने हुए हैं। बता दें कि ईशांत शर्मा की गैर मौजूदगी में दिल्ली टीम की कप्तानी ऋषभ पंत संभाल रहे हैं।

पर्थ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इंग्लिश बल्लेबाज बने डेविड मलान, इंग्लैंड टीम के नाम दर्ज हुआ ये शर्मंनाक रिकॉर्ड
पर्थ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इंग्लिश बल्लेबाज बने डेविड मलान, इंग्लैंड टीम के नाम दर्ज हुआ ये शर्मंनाक रिकॉर्ड

सेमीफाइनल मैच के पहले दिन टॉस जीतकर बंगाल टीम पहले बल्लेबाजी करने उतरी। सुदीप चैटर्जी (83) और ऋतिक चैटर्जी (47) की साझेदारी की मदद से बंगाल टीम ने 286 रनों का स्कोर खड़ा किया। दिल्ली की ओर से नवदीप सैनी ने 3 विकेट लिए, वहीं मनन शर्मा और कुलवंत खेजोलिया ने 2-2 विकेट झटके। जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली टीम को गंभीर और कुनाल ने बेहतरीन शुरुआत दिलाई। गंभीर फिलहाल 117 रन बनाकर क्रीज पर बने हुए हैं और दिल्ली एक विकेट के नुकसान पर 235 रन बना चुकी है। बंगाल टीम मैच में 51 रनों की बढ़त पर है।

गंभीर ने मध्य प्रदेश के खिलाफ क्वार्टरफाइनल मैच में 95 रनों की शानदार पारी खेली थी जिसकी बदौलत दिल्ली सेमीफाइनल में पहुंची। अब गंभीर ने सेमीफाइनल में शतक बनाकर टीम की जीत की नींव रखी है। गंभीर इस रणजी सीजन में अच्छे फॉर्म में हैं। हाल ही में दक्षिण अफ्रीका दौरे पर जाने वाली भारतीय टेस्ट टीम में उनका चयन ना होने पर फैंस काफी नाराज हुए थे। वैसे गंभीर ने एक और धमाकेदार पारी खेलकर ये साबित कर दिया है कि वह राष्ट्रीय टीम में जगह पाने के हकदार हैं।