Ranji Trophy 2018-19 Final, Vidarbha vs Saurashtra: Akshay Wadkar, Akshay Karnewar helped the Hosts edge near 200/7 on Day 1
Jaydev-Unadkat © Getty Images (file image)

रणजी ट्रॉफी 2018-19 फाइनल का पहला दिन सौराष्‍ट्र के गेंदबाजों के नाम रहा। मौजूदा चैंपियन विदर्भ की टीम दिन का खेल खत्‍म होने तक 200 रन पर 7 विकेट गंवा चुकी है।

पढ़ें: तेंदुलकर बोले- विश्व कप खिताब की प्रबल दावेदार है टीम इंडिया

विदर्भ ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करने का फैसला किया। विदर्भ की शुरुआ खराब रही। उसने 29 रन के कुल स्‍कोर पर अपने दो विकेट गंवा दिए थे। सौराष्‍ट्र के कप्‍तान और तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट ने संजय रामास्‍वामी (02) को जल्‍दी ही पवेलियन की राह दिखा दी।

कप्‍तान फैज फजल 16 रन के निजी योग पर रनआउट होकर चलते बने। विदर्भ के लिए उसके सबसे अनुभवी बल्लेबाज वसीम जाफर का जल्द ही आउट हो जाना सबसे बड़ा झटका रहा।

पढ़ें: ‘हमें पता था भारत की मजबूत गेंदबाजी के सामने रन बनाना होगा मुश्किल’

क्वार्टरफाइनल में दोहरा शतक जड़ने वाले 40 साल के जाफर फाइनल में 67 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 23 रन बनाकर आउट हुए। उनादकट ने जाफर के रूप में अपना दूसरा शिकार किया।

विदर्भ की टीम ने अपना तीसरा विकेट 60 के स्कोर पर गंवाया। इसके बाद के बल्लेबाजों ने हालांकि अच्छी शुरुआत की लेकिन कोई भी उसे बड़े स्कोर में नहीं बदल पाया। मोहित काले ने 126 गेंदों में 35 रन, गणेश सतीश ने 86 गेंदों में 32 रन और अक्षय वाडकर ने 115 गेंदों में 45 रन बनाए।

विदर्भ के छह विकेट 139 रन पर गिर गए थे। लेकिन वाडकर और अक्षय कार्नेवर ने 7वें विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी की।

स्टंप्स के समय कार्नेवर 71 गेंदों में 31 रन बनाकर क्रीज पर थे। उनके जोड़ीदार अक्षय वखारे को अभी खाता खोलना है। उनादकट ने 26 रन पर दो विकेट लिए जबकि चेतन सकारिया, प्रेरक मांकड, धर्मेन्द्रसिंह जडेजा और कमलेश मकवाना को एक-एक विकेट मिला।

विदर्भ ने पहले सेमीफाइनल मैच में केरल को पारी और 11 रन से हराकर फाइनल में प्रवेश किया है जबकि सौराष्ट्र ने दूसरे सेमीफाइनल में कर्नाटक को 5 विकेट से मात देकर खिताबी मुकाबले में जगह बनाई है।