© IANS
© IANS

करुण नायर (नाबाद 148) ने नाबाद शतकीय पारी के दम पर कर्नाटक को संभाला और रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में दूसरे दिन सोमवार का खेल समाप्त होने तक टीम को आठ विकेट पर 294 के स्कोर तक पहुंचा दिया है। इस स्कोर के तहत कर्नाटक ने विदर्भ के खिलाफ 109 रनों की बढ़त हासिल कर ली है। उसके दो विकेट अब भी शेष हैं। करुण के साथ कप्तान आर. विनय कुमार (20) नाबाद हैं। दोनों के बीच 69 रनों की साझेदारी हो चुकी है।

पहले दिन रविवार को विदर्भ की पहली पारी 185 पर समेटने के बाद कर्नाटक के लिए पहली पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी। स्टम्प्स तक उसने 36 के स्कोर पर ही अपने तीन विकेट गंवा दिए थे। करुण 6 और चिदंबरम गौतम नौ रन बनाकर नाबाद रहे थे। कर्नाटक ने दूसरे दिन सोमवार को पारी की अच्छी शुरुआत की। नायर और गौतम (73) ने 124 रनों की शानदार शतकीय साझेदारी कर टीम को 160 के स्कोर पर पहुंचाया। इसी स्कोर पर उमेश यादव की गेंद पर गौतम अक्षय वखारे के हाथों लपके गए। एक छोर पर टीम की पारी को संभाले नायर को बाकी बल्लेबाजों का साथ नहीं मिल रहा था। स्टुअर्ट बिन्नी भी केवल चार रन बनाकर रजनीश गुरबानी की गेंद पर अपूर्व वानखेड़े के हाथों कैच आउट हो गए।

गुरबानी ने इसके बाद करुण का साथ देने आए श्रेयस गोपाल (7) और कृष्नप्पा गौथम (1) को भी पवेलिय भेजा। हालांकि, करुण अब भी पिच पर डटे हुए थे। अभिमन्यु मिथुन (10) ने करुण के साथ आठवें विकेट के लिए 27 रन जोड़े और टीम को 225 के स्कोर तक पहुंचाया। आदित्य सारवाते ने इसी स्कोर पर मिथुन को आउट कर टीम का आठवां विकेट भी गिराया। करुण ने इसके बाद कप्तान कुमार के साथ मिलकर बिना कोई विकेट गंवाए 69 रन की अर्धशतकीय साझेदारी की और स्टम्प्स तक टीम को 294 के स्कोर तक पहुंचाया।

ऑस्ट्रेलिया की जीत से गदगद हुए पूर्व क्रिकेटर, स्टीवन स्मिथ को दी जमकर बधाई
ऑस्ट्रेलिया की जीत से गदगद हुए पूर्व क्रिकेटर, स्टीवन स्मिथ को दी जमकर बधाई

विदर्भ के लिए इस पारी में गुरबानी ने सबसे अधिक पांच विकेट लिए। इसके अलावा, उमेश को दो और सारवाते को एक सफलता मिली है। कर्नाटक के लिए विदर्भ की पहली पारी को 185 रनों में समेटने में मिथुन ने पांच विकेट लेकर अहम भूमिका निभाई। कप्तान कुमार ने दो विकेट लिए और बिन्नी, अरविंद तथा गोपाल को एक-एक सफलता मिली।