Rassie Van der Dussen: We are here to play in traditional South African way
Rassie-van-der-Dussen @AFP (FILE IMAGE)

भारत दौरे पर आई दक्षिण अफ्रीका की मौजूदा टीम को पिछली टीमों से कमजोर माना जा रहा है लेकिन उप कप्तान रासी वान डर डुसेन ने कहा कि वे यहां ‘पारंपरिक दक्षिण अफ्रीकी तरीके’ का क्रिकेट खेलने आए हैं।

पढ़ेें: पाकिस्तान की घरेलू सीरीज में मैच रेफरी की भूमिका में होंगे डेविड बून

सीरीज का पहला मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था जबकि दूसरे मुकाबले को भारतीय टीम ने सात विकेट से अपने नाम किया था।

विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक के नेतृत्व में युवा खिलाड़ियों के साथ यहां पहुंची दक्षिण अफ्रीका की कोशिश रविवार को चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जाने वाले मुकाबले को जीतकर सीरीज को बराबर करने की होगी।

डुसेन ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘हमारी टीम में युवा हैं लेकिन हम यहां पारंपरिक दक्षिण आफ्रीकी तरीके का क्रिकेट खेलने आए हैं। अपनी तरफ से अच्छा खेलने की पूरी कोशिश करेंगे।’

उन्होंने कहा, ‘टीम में युवा खिलाड़ी हैं लेकिन हम दबकर नहीं खेलने वाले हैं। हमारी यही कोशिश होगी। आपको यह नहीं पता होता है कि नतीजा हमारे पक्ष में रहेगा या नहीं। हमें पता है यह मुश्किल होने वाला है क्योंकि भारत दुनिया की सबसे मजबूत टीमों में से एक है। हम उनकी चुनौती को स्वीकार कर रहे हैं।’

‘कोहली, रोहित और धवन गेंदबाजों के लिए मुश्किल चुनौती’

डुसेन से कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन जैसे बल्लेबाजों से सजी भारतीय शीर्ष क्रम की चुनौती के बारे में पूछा गया तो उन्होंने माना कि गेंदबाजों के लिए यह मुश्किल चुनौती है।

उन्होंने कहा, ‘वे शायद दुनिया के सर्वश्रेष्ठ तीन टी-20 बल्लेबाजों में शामिल हैं। विराट और रोहित अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट में इस समय दो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं।’

पढ़ें: BCCI की ACU ने मेजबान संघों को भेजा नोटिस, बोला- सुरक्षा में चूक बर्दाश्त नहीं

उन्होंने कहा, ‘युवा गेंदबाजों के लिए यहां आना और ऐसे खिलाड़ियों को गेंदबाजी करना काफी चुनौतीपूर्ण है। लेकिन मैंने जैसा कहा, हमें चुनौती के बारे में पता है, अगर हम जीतना चाहते हैं तो ऐसे बल्लेबाजों से निपटना होगा।’

उन्होंने कहा कि टीम को अनुभवी लेग स्पिनर इमरान ताहिर की कमी खल रही है। डुसेन ने कहा, ‘इमरान हमारे बड़े खिलाड़ी हैं। उन्होंने एकदिवसीय से संन्यास लिया है जिससे टी20 क्रिकेट पर ज्यादा ध्यान दे सकें। हम जानते हैं कि वे हमारे बड़े हथियार हैं।’