ravichandran ashwin is a problem for rcb on flat tracks says sanjay manjrekar

संजय मांजरेकर का कहना है रविचंद्रन अश्विन अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर संघर्ष कर सकते हैं। मांजरेकर मानते हैं कि इस स्टेडियम की पिच स्पिनर्स के लिए बहुत मददगार नहीं है और ऐसे में अश्विन को यहां मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

ईएसपीएनक्रिकइंफो के साथ बातचीत में मांजरेकर ने कहा कि अगर पिच से बहुत ज्यादा मदद न हो तो रविचंद्रन अश्विन बहुत ज्यादा वैरिएशन इस्तेमाल करने लगते हैं। उन्होंने कहा कि अगर पिच स्पिनर्स के लिए मददगार होती तो राजस्थान रॉयल्स को काफी फायदा होता क्योंकि उनके लाइन-अप में दो-दो क्वॉलिटी स्पिनर्स हैं।

मांजरेकर ने कहा, ‘सपाट पिचों पर रविचंद्रन अश्विन राजस्थान रॉयल्स के लिए एक समस्या हैं क्योंकि वह बहुत ज्यादा वैरिएशन ट्राय करते हैं। ऐसे मौके पर वह बहुत कम ऑफ स्पिन फेंकते हैं। लेकिन जहां पिच से टर्न मिलता है वहां वह बहुत खतरनाक हो जाते हैं। अगर पिच में टर्न होता तो राजस्थान को फायदा होता क्योंकि उनके चहल और अश्विन दोनों एक साथ गेंदबाजी कर रहे होते।’

क्रिकेटर से कॉमेंटेटर बने मांजरेकर ने यह भी कहा कि अंतिम ओवरों में राजस्थान की गेंदबाजी काफी सामान्य रही है। उनका मानना है कि दूसरे क्वॉलिफायर में भी यह उनके लिए परेशानी हो सकती है।

मांजरेकर हालांकि यह भी मानते हैं कि राजस्थान को अंतिम ओवरों में प्रसिद्ध कृष्णा और ओब्ड मैकॉय को ही आजमाना चाहिए। वह ट्रेंट बोल्ट को पारी की शुरुआत में ही इस्तेमाल करने के पक्ष में हैं।

मांजरेकर ने कहा, ‘डेथ बोलिंग राजस्थान की एक कमजोरी रही है। ट्रेंट बोल्ट एक विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं लेकिन उन्हें नई गेंद के साथ ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि डेथ ओवर्स में उनका रिकॉर्ड बहुत अच्छा नहीं है। उन्होंने प्रसिद्ध कृष्णा पर दांव खेला जिसन इस सीजन में ठीक-ठाक प्रदर्शन किया है। ओब्ड मैकॉय से भी टीम को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। रियान पराग के अलावा उनके पास छठे गेंदबाज के लिए कोई विकल्प नहीं है।’