भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच क्रिकेट में प्रतिद्धंदिता जगजाहिर है. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग ने कहा है कि ‘मंकीगेट प्रकरण’ उनकी कप्तानी का सबसे बुरा पल था. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 2007-2008 बॉर्डर-गावस्कर सीरीज में सिडनी टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर एंड्रयू सायमंड्स और भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह आपस में भिड़ गए थे और आरोप था कि टर्बनेटर यानी हरभजन ने सायमंड्स को मंकी यानि बंदर कहा है. हरभजन ने हालांकि इस बात से इनकार किया था.

टी20 वर्ल्‍ड कप में हार्दिक पांड्या बदल देगा सारे समीकरण: वीरेंद्र सहवाग

पोंटिंग ने स्काई स्पोटर्स से कहा, ‘मंकीगेट शायद मेरी कप्तानी का सबसे बुरा पल था. 2005 में एशेज सीरीज हारना भी निराशाजनक था लेकिन मैं उस समय पूरे नियंत्रण में था, लेकिन मंकीगेट के दौरान जो हुआ उस समय मैं अपने नियंत्रण में नहीं था. इस प्रकरण ने हम सभी को काफी निराश किया था.’

पोंटिंग ने कहा, ‘वह बुरा पल था, इसलिए भी क्योंकि वह काफी लंबा खिंचा था. मुझे याद है कि मैं एडिलेड टेस्ट में जा रहा था और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के कुछ अधिकारियों से बात कर रहा था, क्योंकि इस मामले की सुनवाई एडिलेड टेस्ट मैच के अंत में थी.’

मंकीगेट विवाद आईसीसी के हस्तक्षेप के बाद समाप्त हुआ था. इस विवाद के कारण हरभजन सिंह पर 3 टेस्ट मैचों का बैन लगा दिया गया था जिसके बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने कड़ा रूख अपनाते हुए ऑस्ट्रेलियाई दौरा रद्द करने की बात करने लगा, बाद में आईसीसी ने हरभजन सिंह पर से बैन हटाया तब यह मामला शांत हुआ था.

वीरेंद्र सहवाग बोले- महेंद्र सिंह धोनी की टीम इंडिया में वापसी के अब नहीं हैं…

पोंटिंग ने 77 टेस्ट और 228 वनडे में ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी थी. इस दौरान ऑस्ट्रेलिया को 48 टेस्ट में जीत मिली जबकि वनडे में उसने 164 मैच जीते.