न्यूलैंड्स क्रिकेट ग्राउंड में तीसरे टेस्ट में भारत की दूसरी पारी के दौरान नाबाद 100 रनों की पारी खेलकर रिषभ पंत (Rishabh Pant) दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट शतक बनाने वाले पहले भारतीय विकेटकीपर बन गए। वो दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट शतक लगाने वाले एशिया के पहले विकेटकीपर बल्लेबाज भी बन गए हैं।

पंत ने अपने टेस्ट करियर का चौथा शतक बनाने के लिए पिच पर कड़ी मेहनत की। उनके अलावा कोई और भारतीय बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में 30 का आंकड़ा भी पार न कर सका।

133 गेंदों में नाबाद 100 रन के साथ पंत अब इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और अब दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट शतक लगाने वाले एकमात्र भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। उनके इस शानदार पारी से पहले, पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) का 2010/11 के दौरे में सेंचुरियन में 90 रन दक्षिण अफ्रीका में किसी भारतीय विकेटकीपर द्वारा सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर था।

भारत जब 58/4 था, तब पंत क्रीज पर आए थे। उन्होंने विराट कोहली के साथ मिलकर पांचवें विकेट के लिए 94 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी की। जब भी पंत को खराब गेंद मिली, उन्होंने उसे बाउंड्री तक पहुंचाया। इस पारी की वजह से पंत ने भारत की बढ़त 200 के पार कर दी।

भारत अब केपटाउन टेस्ट और सीरीज जीतने के लिए 212 रन का बचाव करते हुए उम्मीद कर रहा है कि पंत की शानदार पारी बेकार नहीं जाएगी।