Rohit Sharma: I knew that if we got 140-150 bowlers to keep us in the game
रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह © AFP

दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ गुरुवार शाम खेले गए मैच में 40 रनों से शानदार जीत हासिल करने वाली मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा का कहना है कि उन्हें यकीन था कि अगर वो 140 के करीब स्कोर भी बनाएंगे तो उनके गेंदबाज मैच बचा लेंगे।

पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लेते समय रोहित के दिमाग में यही विचार था लेकिन पांड्या ब्रदर्स हार्दिक और क्रुणाल ने मिलकर निचले क्रम में शानदार बल्लेबाजी की और दिल्ली के सामने 169 का बड़ा लक्ष्य रखा।

मैच के बाद कप्तान रोहित ने कहा, “टॉस के समय पहले बल्लेबाजी का फैसला करते समय मैंने अपना मन बना लिया था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हमने (टीम इंडिया) यहां जो आखिरी वनडे मैच खेला था, उसमें भी लक्ष्य का पीछा करने मुश्किल रहा था। यहां खेले गए पिछले कुछ मैचों में चेज करने वाली टीम जीती थी लेकिन वो स्कोर काफी कम थे। हम बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में सहज थे। मुझे पता था कि अगर हम 140-150 के करीब का स्कोर बनाते हैं तो हमारे गेंदबाज हमें खेल में बनाए रखेंगे।”

ये भी पढ़ें: इस सीजन दिमाग का सही तरीके से इस्तेमाल कर रहा हूं- हार्दिक पांड्या

कप्तान रोहित को जैसी उम्मीद थी गेंदबाजों ने वैसा ही प्रदर्शन किया। तेज गेंदबाजों और स्पिनर्स दोनों ने ही अपना काम बखूबी निभाया और दिल्ली टीम को 128/9 पर रोका। गेंदबाजों के प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए कप्तान रोहित ने सबसे पहले स्पिनर राहुल चाहर की तारीफ की।

रोहित ने कहा, “राहुल पिछले साल भी हमारे साथ था, हम उसे खिलाना चाहते थे, जहां मयंक खेल रहा था लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। उसका व्यवहार अच्छा है और वो जानता है कि उसे क्या करना है, वो स्मार्ट है। उसने बीच के ओवरों में हमें जो विकेट दिलाए वो अहम थे। उनके टीम में बाएं हाथ के बल्लेबाज थे और राहुल को आत्मविश्वास था कि वो बाएं हाथ के बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी कर सकता है।”

ये भी पढ़ें:हार्दिक-चाहर का शानदार प्रदर्शन, मुंबई ने दिल्ली को 40 रन से हराया

दिल्ली के खिलाफ मैच के लिए रोहित ने प्लेइंग इलेवन में दो नए खिलाड़ियों बेन कटिंग और जयंत यादव को मौका दिया था। हालांकि दोनों ही खिलाड़ी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए लेकिन रोहित अपने फैसले पर पूरी तरह कायम है। उन्होंने कहा, “उनकी टीम में मौजूद बाएं हाथ के बल्लेबाजों को देखते हुए जयंत का आना तो स्पष्ट था। कटिंग के साथ, हम चाहते थे कि वो नई गेंद के साथ बड़े हिट लगाए और मुझे लगा उसे ऊपर भेजना अच्छा कदम है। हम चाहते थे कि हार्दिक और पोलार्ड में से कोई एक ऊपर आए और स्पिनर्स को संभाले।”

रोहित ने संकेत दिए कि आगे के मैचों में भी बल्लेबाजी क्रम में इस तरह के बदलाव देखने को मिल सकते हैं। उन्होंने कहा, “गेमप्लान हर वेन्यू और विपक्षी टीम के हिसाब से बदलता रहता है। टॉप तीन बल्लेबाजों समान रहेंगे लेकिन चार, पांच और छह हमेशा बदलते रहेंगे, जो कि हमने खिलाड़ियो को भी समझा दिया है।”