Rohit Sharma: IPL helps players to be in touch with the game
रोहित शर्मा © AFP

विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से ठीक पहले इंडियन प्रीमियर लीग का आयोजन अब तक क्रिकेट समीक्षकों के गले नहीं उतरा है। आईपीएल के 12वें सीजन का फाइनल आज, 12 मई को खेला जाएगा और 30 मई से विश्व कप टूर्नामेंट शुरू होगा। ऐसे में खिलाड़ियों को ज्यादा लंबा ब्रेक नहीं मिल पाएगा।

हालांकि टीम इंडिया के उप कप्तान और आईपीएल में मुंबई इंडियंस की अगुवाई करने वाले रोहित शर्मा का अलग मत है। रोहित का मानना है कि आईपीएल टूर्नामेंट खिलाड़ियों को फॉर्म में बने रहने में मदद करता है जो कि विश्व कप या किसी और बड़े आईसीसी टूर्नामेंट से पहले अच्छा है।

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ आज होने वाले फाइनल मैच से पहले रोहित ने कहा, “टूर्नामेंट से पहले हमने हर एक खिलाड़ी का आंकलन किया था। हर खिलाड़ी अलग होता है। जैसे कि जसप्रीत बुमराह फिट रहने के लिए खेलना पसंद करता है। हमारे फीजियो और ट्रेनर उसे लगातार मॉनीटर कर रहे हैं। अब तक जसप्रीत और हार्दिक (पांड्या) के साथ कोई समस्या नहीं है। ये जानना जरूरी है कि खिलाड़ी कैसा महसूस कर रहे हैं। पिछले साल हमने आईपीएल खेला और फिर चैंपियंस ट्रॉफी जीतने गए। मुझे लगता है कि आईपीएल खिलाड़ियों को खेल के साथ जुड़े रहने में मदद करता है, ये खिलाड़ियों को फॉर्म हासिल करने में मदद करता है।”

Dream11 Prediction: मुंबई-चेन्नई फाइनल मैच में इन 11 खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

रोहित की कप्तानी में आज मुंबई अपने चौथे खिताब की तलाश में हैदराबाद के राजीव गांधी स्टेडियम में उतरेगी। तीन बार आईपीएल खिताब जीत चुकी मुंबई ने 12वें सीजन में चेन्नई को तीन बार हराया है हालांकि कप्तान रोहित पुराने आंकड़ों पर ध्यान ना देकर केवल मैच के बारे में सोचते हैं।

उन्होंने कहा, “मैं इतिहास में विश्वास नहीं रखता। हम इस दिन पर ध्यान लगाना चाहते हैं ना कि जो पहले हो चुका है उस पर। हम इसे किसी और मैच की तरह ही खेलेंगे, हम इस मैच को उसी तरह से देख रहे हैं और हम मैदान पर उतरकर अच्छा क्रिकेट खेलने की कोशिश करेंगे।”

ये भी पढ़ें: IPL 2019 : फाइनल में चेन्नई के खिलाफ मुंबई का पलड़ा भारी

गौरतलब है कि फाइनल मैच ना तो मुंबई और ना ही चेन्नई के घरेलू मैदान पर है। रोहित से जब न्यूट्रल वेन्यू को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, “भारतीय खिलाड़ी होने के नाते, हम इस मैदान पर काफी मैच खेल चुके हैं और हालात से वाकिफ हैं। दोनों ही टीमें इस मैदान पर ज्यादा नहीं खेली हैं लेकिन ये हमारी जिम्मेदारी है कि हमारे पास जो भी जानकारी है वो अपने विदेशी खिलाड़ियों को दें। पिच खास बड़ा फैक्टर नहीं होगी। कितनी जल्दी हम पिच को पढ़ते हैं ये जरूरी है क्योंकि ये हमे पर्याप्त रन बनाने और विपक्षी टीम को रोकने में मदद करेगा।” बता दें कि मुंबई ने हैदराबाद में खेले आखिरी मैच में सनराइजर्स को 40 रनों से हराया था।