Sachin Tendulkar: The key moment was to get MS Dhoni run-out
महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या (BCCI)

मुंबई इंडियंस के खिलाफ इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें सीजन के फाइनल मैच में 150 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई सुपर किंग्स 20 ओवर में मात्र 148 रन बनाकर एक रन के अंतर से मैच हार गई। इस जीत के साथ मुंबई चार बार आईपीएल खिताब जीतने वाली पहली और अकेली टीम बन गई है।

मैच में ऐसे कई मौके आए थे जब दर्शक हैरान रह गए लेकिन मैच का सबसे अहम पल वो था जब चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रन आउट हुए। मुंबई टीम के पूर्व खिलाड़ी और आइकन सचिन तेंदुलकर ने धोनी के रन आउट को मैच का टर्निंग प्वाइंट बताया। प्रेसेंटेशन के दौरान तेंदुलकर ने कहा, “अहम पल धोनी को रन आउट करने का था।”

पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने आगे कहा, “इसके अलावा,  जब बुमराह आए और उन महत्वपूर्ण ओवरों में गेंदबाजी की, खासकर मलिंगा ने उस महंगे ओवर के बाद। इसके बाद क्रुणाल से ओवर में काफी रन गए, बुमराह ने बेहद अच्छी गेंदबाजी की। मुझे लगता है कि मलिंगा अच्छा फिनिश किया, वो आखिरी ओवर बहुत खूबसूरत था।”

ये भी पढ़ें: मुंबई ने रिकॉर्ड चौथी बार खिताब जीत रचा इतिहास

बुमराह-मलिंगा के साथ तेंदुलकर ने युवा स्पिन राहुल चाहर की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, “हमने यहां (हैदराबाद) में जो एक-दो फाइनल मैच खेले हैं, उसमें हमने 120 के करीब के लक्ष्य को बचाते हुए अच्छे से मैच खत्म किया है। हमें एक शानदार टीम मिली है – अनुभव और युवाओं का मिश्रण। राहुल चाहर बेहतरीन है – मैंने उसके पहला मैच खेलने से पहले ही अपना विचार सामने रखा था और मेरा मानना है कि वो शानदार है।”

सचिन ने रोहित शर्मा की कप्तानी, सही फील्ड प्लेसमेंट और गेंदबाजों के इस्तेमाल को भी सराहा। इस महान क्रिकेटर ने कहा, “छठें से 15वें ओवर तक उन्होंने एक स्लिप के साथ गेंदबाजी की और एक महत्वपूर्ण मैच में कुछ बेहतरीन गेंदबाजी हुई। मुझे लगता है कि स्पिनरों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है, और टूर्नामेंट के दौरान हार्दिक पांड्या ने भी हमारे लिए कई बेहतरीन पारियां खेली।”