सचिन तेंदुलकर को आउट करने के बाद खुशी मनाते सईद अजमल © Getty Images
सचिन तेंदुलकर को आउट करने के बाद खुशी मनाते सईद अजमल © Getty Images

पाकिस्तान के सबसे अच्छे ऑफ स्पिनर्स में से एक सईद अजमल ने बुधवार को नेशनल टी20 कप के सेमीफाइनल के बाद क्रिकेट को अलविदा कह दिया। अपने रिटायरमेंट के बाद सईद अजमल ने बेहद ही अजीबोगरीब बयान दिया। 6 साल बीतने के बाद भी सईद अजमल को आज तक समझ में नहीं आया कि वर्ल्ड कप 2011 के सेमीफाइनल में अंपायरों ने सचिन तेंदुलकर को उनकी गेंद पर नॉट आउट कैसे करार दिया था ।

मोहाली में पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में तेंदुलकर ने 85 रन बनाये थे । अजमल ने उन्हें आउट किया था । अजमल ने कहा ,‘‘ मुझे विश्वास था कि वो पगबाधा आउट थे लेकिन आज तक मुझे समझ में नहीं आया कि अंपायरों ने उन्हें आउट क्यों नहीं दिया ।’’ हालांकि उन्होंने माना कि भारतीय बल्लेबाजों को गेंदबाजी करना आसान नहीं था । सईद अजमल ने कहा कि तेंदुलकर एंड कंपनी को गेंदबाजी करना हमेशा कौशल और क्षमता का परीक्षण होता था।

आपको बता दें सईद अजमल अपने क्रिकेट करियर का आखिरी मैच हार गए। नेशनल टी20 कप में फैसलाबाद की कप्तानी कर रहे सईद अजमल की टीम फैसलाबाद को सेमीफाइनल मैच में लाहौर व्हाइट्स से शिकस्त मिली। रोमांचक मुकाबले में लाहौर व्हाइट्स ने फैसलाबाद को महज 10 रनों से हराया। फैसलाबाद को सिर्फ 143 रनों का लक्ष्य मिला था जिसके जवाब में वो 132 रन ही बना सकी और मैच हार गई। मैच के बाद सईद अजमल को जबर्दस्त विदाई दी गई। लाहौर व्हाइट्स और फैसलाबाद की टीम के खिलाड़ियों ने बल्ले उठाकर उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया।

आर. अश्विन के मुकाबले हरभजन सिंह हैं ज्यादा आक्रामक गेंदबाज: मैथ्यू हेडन
आर. अश्विन के मुकाबले हरभजन सिंह हैं ज्यादा आक्रामक गेंदबाज: मैथ्यू हेडन
[/link-to-post

40 साल के अजमल ने पाकिस्तान के लिए 35 टेस्ट में 178 विकेट लिए, जिसमें उन्होंने 10 बार 5 विकेट हॉल हासिल किए। सईद अजमल ने वनडे क्रिकेट में खूब धमाल मचाया। उन्होंने 113 मैच में 182 विकेट झटके। सईद अजमल टी20 फॉर्मेट में खासे सफल गेंदबाज थे। उन्होंने 64 टी20 मैचों में 85 विकेट झटके और उनका इकॉनमी रेट महज 6.36 रहा। सईद अजमल अब पीएसएल में इस्लामाबाद यूनाइटेड के स्पिन बॉलिंग कोच के तौर पर नजर आएंगे। (पीटीआई के इनपुट के साथ)