पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने अपने साथी खिलाड़ी रह चुके सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) की जमकर तारीफ की। लक्ष्मण का कहना है कि केवल सचिन जैसा खिलाड़ी है अलग-अलग समय में अलग-अलग कप्तानों की अगुवाई में खेल सकता है।

हाल ही में भारतीय क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में से एक तेंदुलकर को 21वीं सदी का सबसे महान टेस्ट बल्लेबाज होने का खिताब दिया है। आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के दौरान चुने गए इस खिताब किए तेंदुलकर ने जैक कैलिस, स्टीव स्मिथ, कुमार संगाकारा और रिकी पॉन्टिंग जैसे कई दिग्गजों को पछाड़ा।

स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट लाइव के दौरान लक्ष्मण ने कहा, “सचिन ने कई कप्तानों की अगुवाई में खेला है। मुझे लगता है कि साल 2000 में उन्होंने फैसला किया था कि वो कप्तानी नहीं करेंगे। उनके जैसे सीनियर खिलाड़ी, खेल के इतने बड़े दिग्गज के लिए स्थिति के हिसाब से खुद को ढालना और अलग कप्तानों की अगुवाई में भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाने में योगदान देना, ये ऐसी चीज है जो सचिन जैसे आदर्श और प्रेरणादायक खिलाड़ी ही कर सकता है।”

उन्होंने कहा, “उन्होंने अपने पीछे जो विरासत छोड़ी है वो केवल शतक, दोहरा शतक या शतकों का शतक बनाने की नहीं है बल्कि भारत और विश्व क्रिकेट की युवा पीढ़ी को प्रेरित करने की है। मुझे आज भी अहमदाबाद में अपने डेब्यू टेस्ट मैच के दौरान सचिन से खेल की समझ को लेकर चर्चा करते हुए केन विलियमसन याद हैं।”

लक्ष्मण ने आगे कहा, “अभी हाल ही खत्म (स्थगित) हुए आईपीएल के दौरान ही मेरी सचिन से लंबी बातचीत हुई थी, उनकी टेनिस एल्बो सर्जरी को लेकर। इसलिए ना केवल भारतीय क्रिकेटर, बल्कि दुनिया भर के क्रिकेट सचिन से प्रेरणा लेते हैं और इसी वजह से वो महान हैं।”